कलेक्टर “साहब मेरी शादी नहीं हो रही, शादी करा दीजिए”।

लोग अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए जनप्रतिनिधियों के पास जाते हैं। जिसमें बिजली, पानी, सड़क, स्कूल, अस्पताल, जैसी समस्याएं आम है। पर कोई शख्स कलेक्टर से शादी करवाने की गुहार लगाए ऐसा शायद पहली बार हुआ है।

मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का है। जहां एक शख्स ने कलेक्टर से अपनी शादी करवाने की फरियाद लगाई। जिसके बाद कलेक्टर साहब ने उसकी फरियाद सुन, अधीनस्थ अधिकारियों को उसकी शादी की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के कलेक्टर डॉक्टर सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने लोगों की समस्याओं के निराकरण के लिए जनता दरबार लगाया था। जहां लोग अपनी अपनी समस्याएं लेकर जनता दरबार में पहुंचे। और अपनी समस्या के समाधान के लिए कलेक्टर साहब से गुहार लगाई। फरियादियों में एक शख्स ऐसा भी था, जिसकी फरियाद सुन कर एक बार तो कलेक्टर साहब हंस पड़े, फिर उन्होंने उसकी समस्या को गंभीरता से लिया।

शख्स ने कहा, “कलेक्टर साहब मेरी शादी नहीं हो रही है। कृपया करके मेरी शादी करा दीजिए। लंबे समय से शादी की राह देख रहा हूं, पर मेरी शादी नहीं हो रही।” शख्स की फरियाद सुनते ही कलेक्टर साहब हंसने लगे। फिर उन्होंने कहा, कि “तुम्हारी शादी तो करवा देंगे, पर लड़की कहां है।” जिस पर शख्स भावुक होकर बोला, “साहब आप ही कोई लड़की ढूंढ कर मेरी शादी करा दीजिए”। तब कलेक्टर साहब ने उसकी समस्या को गंभीरता से लिया। उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों को आवेदन देते हुए कहा, कि सरकार की सामूहिक विवाह योजना के तहत युवक की शादी करवाने की व्यवस्था की जाए।

बता दें, छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में कलेक्टरों को सप्ताह में 1 दिन जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुनने और उसका समाधान करने के निर्देश दिए गए हैं।