जयंत मस्जिद की कमेटियों के विवाद में हुआ मारपीट, मामला दर्ज

बैढ़न। जयंत मस्जिद में दो कमेटियों के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा है। मंगलवार को विवाद इतना बढ़ गया कि दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई।मारपीट के दौरान असलम को ज्यादा चोट पहुंची है। दोनों पक्षों का मेडिकल किया गया। मामले की रिपोर्ट जयंत चौकी में दर्ज करायी गयी है। और पुलिस मामले की जांच कर रही है।

झगड़े की असल वजह क्या है ?

१९९७ में जब जयंत मस्जिद का बायलाज बना तब मास्टर समसूद्दीन को सदर बनाया गया जो २००४ तक रहे। २००४ से २०१७ तक परवेज सदर बने। १९९७ से लेकर २००४ तक के चुनाव हुये लेकिन वह नियमानुसार बैलेट पेपर के द्वारा नहीं किया गया। र्तमान में १२ जनवरी को चुनाव होना था जिसे कतिपय कारणों से रोक दिया गया। असलम ने बताया कि पूर्व की कमेटी द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। जब इस संबंध में आवाज उठायी जाती है तो उक्त पक्ष के लोग मारपीट पर उतारू हो जात हैं। आज जयंत मस्जिदमें सदर के आफिस मे पूर्व सदर के लोगों द्वारा ताला लगा दिया गया। इस बात पर विवाद हो गया तथा जमकर मारपीट हुई।

जयंत चौकी

क्या है आरोप 

असलम ने बताया कि मस्जिद की पूर्व कमेटी द्वारा ७ से आठ लाख रूपये में चार दुकानें बेंच दी गयी है जबकि बायलाज में लिखा गया है कि दुकान न बेची जा सकती है और ना ही किराये पर दी जा सकती है। इसलिए पूर्व की कमेटी द्वारा किये गये भ्रष्टाचार की उच्चस्तरयी जांच की मांग की है।