माड़ा

झोलाछाप डॉक्टर के विरुद्ध सिंगरौली में हुआ FIR !

झोलाछाप डॉक्टरों की जनसंख्या सिंगरौली में दिनप्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जिससे अच्छे चलते फिरते लोग भी ऐसे डॉक्टरों के उपचार से बीमार हो रहें हैं। आपको बता दें की ऐसा ही मामला सिंगरौली माड़ा तहसील क्षेत्र झाझीटोला से आया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पीड़ित अम्बिका प्रसाद ने जनसुनवाई में कलेक्टर राजीव रंजन मीना को आवेदन दिया था।  जिसमें उल्लेख था की क्षेत्र के झोलाछाप डॉक्टर सुनील कुमार नाई द्वारा मेरी बच्ची का इलाज किया गया था।  जिसके कारण बच्ची के पैर में समस्या उत्पन्न हो गई थी।

Medicine
       Medicine

मामले को कलेक्टर ने गंभीरता से लेते हुए जांच कर उचित कार्यवाही का निर्देश दिया। जिस पर माड़ा उपखंड अधिकारी सम्पदा सर्राफ ने झोलाछाप डॉक्टर सुनील कुमार नाई पिता पन्ना लाल नाई के झाझीटोला निवास पर जाकर जांच किया। 

जांच के दौरान पाया गया की झोलाछाप डॉक्टर के पास कोई चिकित्सा क्षेत्र की डिग्री नहीं है। यह बिना चिकित्सा डिग्री के उपचार कर रहा था।  जिसके कारण अम्बिका प्रसाद के बच्ची के पांव में समस्या आई है।

झोलाछाप डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 269 एवं मध्य प्रदेश राज्य आयुर्विज्ञान परिषद एक्ट के तहत धारा 64 के कायम कर FIR दर्ज कर दी गई है। और पीड़ित आवेदक के बच्ची को डीडीआरसी DDRC बैढ़न में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है।

#एंटेरटेनमेंट     #सरकारी योजना    #काम की खबरें  

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

राकेश कुमार विश्वकर्मा

सिंगरौली,मध्यप्रदेश से हैं। यंग हैं, सुनते सबकी हैं, लेकिन लिखते हैं सिर्फ सच। समाचार और विज्ञापन के लिए संपर्क कीजिए। 7805875468
Back to top button
viral video