हिन्दी न्यूज

बड़ा फैसला : पत्नी, पति के संपत्ति की आजीवन मालकिन नहीं हो सकती-सुप्रीम कोर्ट

देश की शीर्ष अदालत सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court of India) ने एक बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है, पत्नी आजीवन पति की संपत्ति की पूर्ण रूप से मालकिन नहीं हो सकती। न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति एम एम सुंदरेष की पीठ ने 1968 की एक वसीयत के मामले में यह आदेश पारित किया है।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है, कि अगर कोई हिंदू पुरुष स्वयं अर्जित की हुई संपत्ति का मालिक है, और वह अपनी वसीयत में पत्नी को सीमित हिस्सेदारी देता है, तो इसे संपत्ति पर संपूर्ण अधिकार नहीं माना जाएगा।

आपको बता दें कि, हरियाणा के तुलसीराम नामक व्यक्ति ने अप्रैल 1968 में उक्त वसीयत लिखी थी। और नवंबर 1969 को उसका निधन हो गया था।


Also Readजानिए एक पेड़ का मूल्य क्या ?


 

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video