भंडाफोड़ : MP के इस जिले में हो रहा था नकली सीमेंट का गोरख धंधा,3 गिरफ्तार 1 फरार

मध्य प्रदेश (madhya pradesh rewa news) के रीवा में पचास लाख का नकली सीमेंट (Rewa police busted fake cement business) पुलिस ने पकड़ा है। दरअसल, रीवा में असली सीमेंट को ट्रक में उतारकर नकली सीमेंट लोड कर बेचने का यह खेल चल रहा था । सुचना मिलत चाकघाट पुलिस ने 3लोगों को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है।

कैसे हुआ नकली सीमेंट के कारोबार का भंडाफोड़?

प्राप्त जानकारी के अनुसार, चाकघाट पुलिस को सूचना मिली थी कि नकली सीमेंट की खरीद बिक्री का खेल चल रहा है। उसके बाद पुलिस ने चौकघाट स्थित अस्पताल के पास ट्रक में सीमेंट लोड कर रहे कुछ लोगों को गिरफ्तार किया(Rewa police busted fake cement business)।पूछताछ में पता चला कि चकघाट थाना क्षेत्र निवासी राजेश नाम के शख्स के निर्देश पर यह सब नकली सीमेंट कारोबार किया जा रहा है।. पुलिस की गाड़ी देख राजेश फरार हो गया। पूछताछ में यह भी पता चला कि इन लोगों ने जितना असली सीमेंट उतारा, राजेश ने नकली सीमेंट मंगवाकर ट्रक पर लाद दिया। इसके बाद जहां की बिल्टी होती है, वहां भेज दिया जाता है। और इससे होने वाला लाभ आपस में बांट लिया जाता है।

पकडे गए आरोपियों के नाम।

  1. बिहार निवासी व्यंकटेश कुमार शर्मा,
  2. पचपहरा थाना मनगवां निवासी अहिवरन कोल
  3. संतोष यादव निवासी गुजरपार थाना मुबारकपुर जिला आजमगढ़

इस मामले में राजेश गुप्ता उर्फ राजेश फाइनेंसर निवासी चाकघाट फरार है। पुलिस के मुताबिक महाराष्ट्र एवं यूपी के नंबर वाले जिन दो ट्रकों को लोड सीमेंट के साथ पकड़ा गया है, उसकी कीमत लगभग 50 लाख रुपये है।पुलिस ने इस मामले में धारा 407, 709, 34 का अपराध कायम कर जाँच शुरू कर दिया  है।