मध्यप्रदेश के इस जिले में सड़को के आस पास कचरा फेंकने वालों पर होगा FIR !

मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिला कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान देखा कि, क्षेत्र में कई स्थलो पर कचरे का निस्तारण सड़क के आस पास किया गया है जिस पर नाराजगी जाहिर करते हुये कलेक्टर ने निर्देश दिया कि सड़को के आस पास कचरा फेकने वालो के विरूद्ध महामारी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कराया जाना सुनिश्चित करे।

सिंगरौली कलेक्टर राजीव रंजन मीना के द्वारा नगरीय क्षेत्र में फरवरी माह के दौरान चलाये जा रहे स्वाच्छता संकल्प गतिविधियो के तहत किये जा रहे कार्यो के साथ ही शहर के साफ सफाई व्यवस्था का जायजा लेने हेतु नगर निगम आयुक्त आर.पी सिंह एवं उनके टीम के साथ नगर निगम के वार्डो का औचक निरीक्षण किया गया।

कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान आयुक्त को नगर निगम के वार्डो में दिख रही कमियो को दूर करने के लिए निर्देश दिया।

भ्रमण के दौरान कलेक्टर द्वारा एनसीलए जयंत परियोजना अंतर्गत एनसीएल कालोनियो के कचरे के निस्तारण हेतु बनाये गये कचरा प्लांट का भी निरीक्षण किया गया।

भ्रमण के दौरान कलेक्टर ने देखा कि संबंधित क्षेत्र में कई स्थलो पर कचरे का निस्तारण सड़क के आस पास किया गया है जिस पर नाराजगी जाहिर करते हुये कलेक्टर ने निर्देश दिया कि सड़को के आस पास कचरा फेकने वालो के विरूद्ध महामारी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कराया जाना सुनिश्चित करे।

तत्पश्चात कलेक्टर ने नगर निगम कार्यालय के सभागार में बैठक आयोजित कर स्वच्छ सर्वेक्षण जिसके तहत ओडीएफ प्लस प्लस सर्वे के समस्त विंदुओ के अनुसार की जाने वाली तैयारियो के संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी ली।

उन्होने निर्देश दिया कि ओडीएफ प्लस प्लस के सभी विंदुओ पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने नगर निगम के सभी जोनल अधिकारियो को निर्देश दिये कि संबंधित जोनल अधिकारी अपने जोन के वार्डो में प्रातः 6 बजे से अनिवार्य रूप से भ्रमण करना सुनिश्चित करे।साथ उन्होने निर्देश दिया कि संबंधित वार्डो के सहायक यंत्री, उपयंत्री एवं स्वच्छ सर्वेक्षण हेतु पूर्व गठित टीम के सदस्य भी अनिवार्य रूप से वार्डो का भ्रमण करे।

उन्होने निर्देश दिया कि वार्ड वासियो मोहल्ल समितियो से सम्पर्क कर वार्डो की साफ सफाई व्यवस्था के साथ ही वार्डो मे होने वाली समस्याओ जनकारी एकात्रित कर उनका समय पर निराकरण कराना सुनिश्चित करे।

उन्होने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण के दौरान पूछे जाने वाले फीडबैक प्रश्नो का सकारात्मक उत्तर देने के लिए सभी नागरिको को जागरूक करने के लिए आइइसी टीम द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जाये। उन्होन रेमकी प्रबंधन को पंप्लेट के माध्यम से पूछे जाने वालो प्रष्नो को प्रसारित किये जाने के निर्देश दिया।

कलेक्टर ने निर्देश दिया कि शहर की मुख्य सड़को से जोड़ने वाली सड़को का भी भ्रमण करे सड़को मे यदि सुधार की आवश्यकता हो तो तत्काल उनका सुधार कराये। उन्होने प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने का भी निर्देश दिया।

उन्होने कहा प्रति दिन के किये गये कार्यो को स्वच्छता हेतु बनाये गये ग्रुप मे डाले अनावश्यक रूप से लगे पोस्टर बैनरो को तत्काल हटाये।

उन्होने स्वच्छ सकंल्प गतिविधियो के तहत आम नागरिको को जागरूक करने हेतु तय तिथियो पर मोरवा जोन एवं जिला स्तर पर सायकल रैली,सहित राहगिरी नुक्कड नाटक सहित अन्य कार्यक्रमो का आयोजन कराना सुनिश्चित करे। साथ ही जिला स्तर पर वृहद स्तर पर मैराथम दौड़ आयोजित किया जाये।

बैठक के दौरान अधीक्षण यंत्री व्हीपी उपाध्याय, उपयुक्त आरपी बैस, उपायुक्त वित्त सत्यम मिश्रा, कार्यपालन यंत्री आर.के जैन, सहायक यंत्री जे.पी त्रिपाठी, अभयराज सिंह, एसएन द्विवेदी,प्रवीण गोस्वामी, उपयंत्री दिनेश तिवारी, पी.के सिंह, अलोक टीरू, सिवानी गर्ग,स्वच्छता समन्वयक अमित सिंह, सीटी मैनेजर संदीप मिश्रा, सीटडेल प्रबंधक रावेन्द सिंह, आइइसी मैनेजर अषीष शुक्ला, सहित नगर निगम के अधिकारी उपस्थित रहे।