मध्यप्रदेश

महाशिवरात्रि पर उज्जैन का नाम होगा, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज !

महाशिवरात्रि के अवसर पर उज्जैन में 21 लाख दीपक जलाकर, उज्जैन का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करने की तैयारी है।

महाकाल की नगरी उज्जैन में महाशिवरात्रि के अवसर पर 21 लाख दीपक जलाए जाएंगे। जिसमें सामाजिक संगठनों, स्टूडेंट और दूसरे धर्म के लोगों को भी शामिल किया जाएगा। सायरन बजते ही सभी दीपक जलने लगेंगे।Also Read : Ukraine के राष्ट्रपति Volodymyr Zelenskyy कौन हैं ?

प्राप्त जानकारी के अनुसार महाशिवरात्रि पर उज्जैन में शिप्रा नदी के भूखी माता मंदिर घाट से लेकर रामघाट तक 12 लाख दीपक जलाए जाएंगे। 3 लाख दीपक अलग-अलग जगह, घरों और विभिन्न प्रतिष्ठानों में लगाए जाएंगे।

महाकाल मंदिर में 51 हजार दीपक, फ्रीगंज टावर पर एक लाख दीपक, शहर के मंगलनाथ, चिंतामन, काल भैरव, भूखी माता, हरसिद्धि मंदिर सहित अन्य मंदिरों पर भी दीपक जलाए जाएंगे।

शाम 7:00 बजे सायरन बजने के साथ ही दीपक जलने लगेंगे। सभी दीपक करीब 1 घंटे तक चलेंगे। दियों को लगाने के लिए 12 हजार स्वयंसेवक लगेंगे। जिसके लिए जिला पंचायत, शिक्षा विभाग, नगर निगम और स्मार्ट सिटी को जिम्मेदारी दी गई है।

कलेक्टर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया, दीपक बनाने के लिए टेंडर निकाले गए हैं, जो उज्जैन, देवास और इंदौर में भी बनाए जा रहे हैं। कुल 21 लाख दीपक जलाने के लिए घाटों पर मार्किंग की गई है।

आपको बता दें इसके पहले अयोध्या में भी साढ़े नौ लाख दीपक जलाए गए थे। अब उज्जैन में 21 लाख दीपक जलाने की तैयारी है। जिसके बाद उज्जैन का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो जाएगा।

#एंटेरटेनमेंट     #सरकारी योजना    #काम की खबरें

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video