बिज़नेस न्यूज़

मोदी सरकार के कार्यकाल में 96 नए केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों का हुआ गठन।

नई दिल्ली।। केंद्र सरकार ने 2014 से 96 नए केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) का गठन किया है। आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।नए सार्वजनिक उपक्रमों में से ज्यादातर का मुख्यालय दिल्ली में है।

इस सूची में 2018 में गठित एयर इंडिया एसेट्स होल्डिंग लि.(एआईएएचएल) शामिल हैं। इस इकाई का गठन एयर इंडिया की गैर-प्रमुख संपत्तियों और देनदारियों को रखने के लिए किया गया था।

इसके अलावा नए सार्वजनिक उपक्रमों में बीएसएनएल टावर कॉरपोरेशन का गठन भी 2018 में हुआ था। अन्य नए बने सार्वजनिक उपक्रमों में कॉनकोर लास्ट माइल लॉजिस्टिक्स (2020), इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्जिबिशन सेंटर लि. (2020) शामिल हैं।

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले आठ साल में एनटीपीसी रिन्यूएबल एनर्जी लि. (2020), एनएसआईसी वेंचर कैपिटल फंड लि. (2020), राजगढ़ ट्रांसमिशन लि. (2020) और सागरमाला डेवलपमेंट कंपनी लि. (2016) का भी गठन हुआ है।

तीन-तीन सीपीएसई का गठन छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में हुआ है। वहीं झारखंड में देवघर एयरपोर्ट लि. सहित चार नए सार्वजनिक उपक्रम बने हैं।

कर्नाटक में पांच, केरल में तीन, महाराष्ट्र, ओडिशा और प. बंगाल में दो-दो और पंजाब और तेलंगाना में एक-एक सीपीएसई का गठन हुआ है।

आंकड़ों के अनुसार, 31 मार्च, 2020 तक 256 केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम काम कर रहे थे। इनमें से 171 लाभ में और 84 घाटे में थे।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video