सिंगरौली : एक मां की पुकार, सुन लीजिए सरकार !

सिंगरौली(ओम प्रकाश शाह)। मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में एक मां अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए दर-दर की ठोकरे खा रही है। लेकिन आज तक न्याय नही मिला। देखना है कब इस मां को न्याय मिलता है ? कब जिले के आला अधिकारीयों को इस मां का दर्द सुनाई देता है ?

“उर्जांचल टाइगर” को उम्मीद है,उम्मीद इस लिए की क्योंकि जब राह कठिन होता है तो यह उम्मीद ही आगे बढ़ने और अन्याय से लड़ने का हौंसला देता है।

क्या है पूरा मामला ?

मीडिया के सामने चितरबईकला निवासी पीड़ित मां ने रोते हुए बताया कि उसने खुटार चौकी में बीते वर्ष 2020 में एक रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसके नबालिक बेटी को खटखरी निवासी ज्ञानदास शाह पिता प्रद्दुमन शाह ने शादी का झांसा देकर बेटी की आबरू के साथ खिलवाड़ करता रहा। पीड़ित बेटी की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध धारा 376 पंजीबद्ध कर आरोपी को न्यायालय में पेश किया था। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया था।


देखिए वीडियो : दारू पीनेवाला झूठ नहीं बोलता – आबकारी अधिकारी


समझौता के बाद फिर आरोपी के परिजनों ने पीड़ित बेटी को दिया धोखा !

आरोपी के परिजनों ने 20 अक्टूबर 2021 को फरियादियो को बहला फुसला कर उक्त मामले में  यह कह कर समझौता कराया कि हमारा बेटा जेल में रहेगा तो कैसे आपकी बेटी से शादी करेगा ?आपलोग समझौता कर लीजिए मेरा बेटा जेल से बाहर आ जायेगा उसके बाद दोनों की बड़ी ही धूमधाम से शादी करायेंगे। जिस समझौते को आरोपी एंव उसके परिजनों ने बाकायदा स्टांप पर लिखकर दिया।लेकिन आरोपी के रिहाई के बाद आरोपी ने शादी से इनकार कर दिया।

जेल के बाहर आते ही पलट गया आरोपी

पीड़ित बेटी की मां का आरोप है कि जेल के बाहर आते ही खटखरी निवासी ज्ञानदास शाह पिता प्रदुमन शाह अब धमकी देता है कि हम शादी नही करेंगे जो करना है कर लो। जो स्टॉप पर लिखा हुआ है और जो सिंगनेचर है वह मेरा नही है।