सिंगरौली

सिंगरौली की सतपहरी वन समिति ने 10 साल में 240 हेक्टेयर वन क्षेत्र को हरा-भरा बना दिया है।

  • सिंगरौली की सतपहरी वन समिति ने 10 साल में 240 हेक्टेयर वन क्षेत्र को हरा-भरा बना दिया है।

  • संयुक्त वन प्रबंधन का कमाल – 240 हेक्टेयर में लहरा रहे वृक्ष

  • सिंगरौली की सतपहरी वन समिति ने 10 साल में लगाए दो लाख से अधिक पौधे

सिंगरौली 22 अप्रैल 2022 ।।  वनों का विदोहन, प्रबंधन और संरक्षण करने के लिए वन विभाग द्वारा संयुक्त वन समितियों का गठन किया गया। इन समितियों ने कई वन क्षेत्रों में शानदार कार्य करते हुए वनों के संरक्षण और संवर्धन में सराहनीय उपलब्धि हासिल की है।

सिंगरौली जिले की सतपहरी ग्राम वन समिति ने 10 वर्षों में 240 हेक्टेयर वन क्षेत्र को हरा-भरा बना दिया है। वन विभाग के सहयोग से समिति के सदस्यों ने दो लाख 20 हजार से अधिक यूकेलिप्टस के पौधे रोपित किए हैं। नए पौधे रोपित करने के साथ-साथ वन क्षेत्र के पुराने वृक्षों का भी सरंक्षण किया गया।

वन समिति ने वन विभाग के सहयोग से चरणबद्ध ढंग से वृक्षारोपण किया। अब तक 240 हेक्टेयर क्षेत्र में हरे-भरे वृक्ष लहरा रहे हैं। ग्राम वन समिति सतपहरी में शामिल ग्रामों में सतपहरी, बम्हनी और गौरवा में वृक्षारोपण का कार्य कराया गया है।

वन प्रबंधन और वृक्षारोपण से समिति को प्रथम वर्ष एक लाख 6 हजार 902 रुपए की आय प्राप्त हुई। समिति द्वारा व्यवस्थित तरीके से यूकेलिप्टिस पौधों का चरणबद्ध विदोहन किया जा रहा है। इससे समिति को इस वर्ष चार लाख 6 हजार रुपए की आय होने का अनुमान है। ग्राम वन समिति सतपहरी जन भागीदारी से वन प्रबंधन का उत्कृष्ट उदाहरण है।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

ब्यूरो

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video