सीधी न्यूज : तितली तालाब में हो रहा अवैध उत्खनन, बना चर्चा का विषय !

सीधी जिले के सिहावल विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत जनपद पंचायत क्षेत्र सिहावल के ग्राम पंचायत तितली एवं डिहुली खास के मध्य एक तालाब है। जो दोनों पंचायतों में आधे आधे हिस्से में बटा हुआ है। जहां पर अवैध रूप से दिनदहाड़े अवैध उत्खनन हो रहा है। यही नहीं एक-दो नहीं बल्कि तीन-तीन जेसीबी मशीन और 5 से 6 की संख्या में हाईवा तथा 5 से 6 की संख्या में ट्रेक्टर दिन रात बराबर अवैध उत्खनन के कार्य में लगा है।

किया जाना है तालाब का गहरीकरण एवं जल संरक्षण का कार्य

सीधी कलेक्टर के आदेश पर जिले के सभी तालाबों का किया जाना है। गहरीकरण एवं जल संरक्षण का कार्य किया जाना है। परंतु दोनों पंचायतों के पंचायत कर्मियों के द्वारा लगातार दिनदहाड़े तालाब का सीना छलनी कर अवैध रूप से मिट्टी का विक्रय किया जाना सवाल खड़े कर रहे हैं।  क्या इस तरह से मुख्यमंत्री एवं सीधी कलेक्टर के आदेशों का पालन हो रहा है? क्या उनके मन के मुताबिक कार्य हो रहा है ? कई तरह के सवाल इन दिनों जन चर्चा का विषय बना हुआ है।

सीधी न्यूज : तितली तालाब में हो रहा अवैध उत्खनन, बना चर्चा का विषय !

ट्रैक्टर चालक ने कहा बिक्री कर रहे हैं मिट्टी

बातचीत के दौरान एक ट्रैक्टर चालक के द्वारा यह बताया गया है कि हमें डिहुली खास सरपंच का आदेश है जिसके बाद हम यह मिट्टी उत्खनन का कार्य कर रहे हैं।  उसने तो इतने आत्मविश्वास के साथ कहा कि यह कोई अवैध उत्खनन नहीं बल्कि गांव के विकास का कार्य किया जा रहा है। और विकास कार्य में यह मिट्टी उपयोग लाई जा रही है। जबकि उसे यह मालूम नहीं है। यह तालाब गहरीकरण कर कितने की राशि आहरित की जाएगी।

लगेगा लाखों की राशि पर पलीता

बता दें कि अभी पंचायत कर्मियों के द्वारा तालाब का अवैध रूप से मिट्टी का उत्खनन करा कर बेचा जा रहा है। और बाद में कागजी घोड़ा दौड़ा कर तालाब गहरीकरण का कार्य दिखाकर मोटी राशि आहरित की जाएगी।

आखिर किस की सरपरस्ती में दिनदहाड़े फल फूल रहा है अवैध उत्खनन का कार्य

तालाब से यह अवैध मिट्टी उत्खनन का कार्य किस की सरपरस्ती में फल फूल रहा है यह तो जांच के बाद ही खुलासा हो पाएगा। क्योंकि ट्रैक्टर चालक के कथन अनुसार यदि पंचायत कर्मी दिनदहाड़े तालाब से मिट्टी का अवैध उत्खनन करा रहे हैं। क्या यह संबंधित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों कर्मचारियों के जानकारी के बगैर कार्य हो रहा है ? क्या बगैर संरक्षण 15 से 20 की संख्या में जेसीबी, हाईवा, ट्रैक्टर से अवैध उत्खनन का कार्य कर सकता है ? 

इस संबंध में जब मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सिहावल अनिल तिवारी से कई बार दूरभाष पर संपर्क किया गया तो उनका फोन नहीं उठा।


इनका कहना है

यह जरूर है कि तालाब का आधा हिस्सा हमारे पंचायत में आता है। और यदि हमारे तालाब के हिस्से में अवैध उत्खनन कार्य हो रहा है तो हम इसके खिलाफ पुलिस प्रकरण दर्ज करवाएंगे।

मुन्ना पटेल सरपंच प्रतिनिधि तितली


हमारे तालाब के हिस्से में उत्खनन नहीं हो रहा है। आपको जो छापना हो जो निकालना हो निकाल दीजिए।

ध्रुव चतुर्वेदी, सचिव तितली


Viral Video