सोनभद्र में सोना निकालने के लिए होगा ग्लोबल टेंडर ?

सोनभद्र फिर से सोने के खदान को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल 2020 में सोनभद्र में सोने की खदान मिलने का दावा किया गया था।2021 में  खदानों का ग्लोबल टेंडर के लिए योगी सरकार के कैबिनेट बैठक में मंजूरी मिली थी। एक साल बाद अब फिर से ग्लोबल टेंडर करने की बात चर्चा का विषय बना हुआ है। 

सोनभद्र में सोना मिलने के बाद अब क्या ?

सोनभद्र में शक्तिनगर एंपरा के पास दियागंज, सोना पहाड़ी और कोटा के पास हरदी में सोने के भंडार होने का पता लगा था। भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग ने इसकी जांच कराई तो धरती में सोना उपलब्ध होने के प्रमाण मिले। विभाग ने अब सोने की खदानों से सोना निकालने के लिए तीन खनन क्षेत्र तय किए है। इन तीनों खनन क्षेत्रों का पट्टा अब ग्लोबल ई-टेंडर के जरिये जारी किया जाएगा। इससे ना केवल सरकार के राजस्व में वृद्धि होगी बल्कि सोनभद्र में व्यापार और रोजगार बढ़ेगा।

योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में मिली थी मंजूरी

दरअसल 2021 में योगी सरकार की कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में खनिज समृद्ध सोनभद्र और ललितपुर क्षेत्रों से सोना, रॉक फास्फेट और लौह अयस्क खनन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। सरकार इन कीमती खनिजों का खनन कराएगी।इन कीमती खनिजों के निकालने के लिए विश्वव्यापी निविदाएं Global tender होगा।

मंत्रिपरिषद ने प्रदेश में मुख्य खनिजों के अन्वेषित ब्लॉकों को ई-नीलामी के आधार पर परिहार पर व्यवस्थित करने हेतु मै. SBI कैपिटल मार्केट लिमिटेड को ट्रान्जेक्शन एडवाइजर तथा ई-ऑक्शन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने हेतु मै. MSTC लिमिटेड को 02 वर्ष हेतु नामित करने का प्रस्ताव स्वीकृत किया है।