सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष के पद से इस्तीफा कि खबर के बीच नई शुरुआत !

बीसीसीआई ने बुधवार को उन अटकलों को खारिज कर दिया कि सौरव गांगुली बोर्ड अध्यक्ष के रूप में अपनी भूमिका नहीं निभेंगे। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान के एक गुप्त ट्वीट के बाद गांगुली अभी भी बीसीसीआई अध्यक्ष हैं।

सौरभ गांगुली ने क्या लिखा था ट्वीट में ? 

BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली ट्वीट में लिखा कि,’साल 1992 में मैंने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। 2022 इसके 30 साल पूरे होने का वर्ष है। तब से अब तक क्रिकेट ने मुझे काफी कुछ दिया है। मुझे आप स भी का समर्थन मिला है। मैं आज अपने हर एक फैन का शुक्रिया करना चाहता हूं, जिन्होंने भी मेरी इस यात्रा में भागीदारी दी और मुझे यहां तक पहुंचाया।

आज मैं ऐसी चीज की शुरुआत करने की योजना बना रहा हूं, शुरू करने की योजना बना रहा हूं जिससे मुझे उम्मीद है कि काफी सारे लोगों को फायदा पहुंचेगा। मैं उम्मीद करता हूं कि मेरे जीवन के इस नए अध्याय में आपका साथ मिलेगा।’

 

इस ट्वीट को पोस्ट करने के कुछ देर बाद, सोशल मीडिया पर अटकलें लगाई जा रही थीं कि गांगुली अपने पद से इस्तीफा देने का संकेत दे रहे हैं। हालांकि, BCCI सचिव जय शाह ने कहा कि “सौरव गांगुली ने BCCI के अध्यक्ष पद से इस्तीफा नहीं दिया है”।

आपको बता दें की गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के 39वें और वर्तमान अध्यक्ष हैं।

सौरव गांगुली का क्रिकेट सफर 

  • सौरव गांगुली ने 1992 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ब्रिस्बेन में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहला कदम रखा था। 
  • सौरभ गांगुली ने अपना पहला टेस्ट मैच 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ लंदन के लॉर्ड्स ग्राउंड में खेला था।
  • गांगुली का आखिरी टेस्ट 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में था।
  • सौरभ गांगुली आखिरी बार 2006 में ग्वालियर में पाकिस्तान के खिलाफ एकदिवसीय मैच खेला था।

सौरभ गांगुली ने 113 टेस्ट में 42.17 की औसत से 7212 रन बनाए हैं। उन्होंने 311 एकदिवसीय मैचों में 11363 रन भी बनाए हैं। इस समय उनका औसत 41.02 था। पूर्व भारतीय कप्तान ने टेस्ट में 16 और वनडे में 22 शतक बनाए हैं।

बतौर कप्तान गांगुली का रिकॉर्ड ऐसा था।

सौरव गांगुली ने 1999 से 2005 तक वनडे में टीम इंडिया की कप्तानी की। इस दौरान उन्होंने 146 मैचों में टीम का नेतृत्व किया। 76 मैच जीत गए और 65 पर हार गए। पांच मैचों के नतीजे जारी नहीं किए गए। टेस्ट की बात करें तो सौरव ने 2000 से 2005 तक 49 मैचों में कप्तानी की। इस दौरान 21 जीते हैं और 13 हारे हैं। 15 मैच ड्रॉ रहा।