PM Kisan की 13वीं किस्त से पहले पीएम मोदी ने किया बड़ा ऐलान, सुनकर खुश हुए 14 करोड़ किसान

PM Kisan Latest News: पीएम मोदी शनिवार को किसानों के लिए कई योजनाएं लेकर आए। उन्होंने कहा कि केंद्र इस साल किसानों को सस्ते दाम पर खाद उपलब्ध कराने के लिए 2.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगा। केंद्र की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि समेत कई ऐसी योजनाएं हैं, जो किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए शुरू की गई हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र ने पिछले आठ वर्षों में लगभग 10 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं, ताकि देश के किसानों को उर्वरकों की उच्च वैश्विक कीमतों का बोझ न उठाना पड़े।

उन्होंने दो लाख करोड़ रुपये से ज्यादा भेजे

मोदी ने शनिवार को रामागुंडम में 9,500 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं की आधारशिला रखने और उन्हें राष्ट्र को समर्पित करने के बाद यह बात कही। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के बैंक खातों में दो लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि भेजी है। हम आपको बता दें कि पीएम किसान की अब तक 12 किस्तें किसानों के खातों में ट्रांसफर की जा चुकी हैं। 13वीं किस्त दिसंबर से मार्च के बीच लाभार्थी के खाते में जमा हो जानी चाहिए। आपको बता दें कि देश में 14 करोड़ से ज्यादा किसान हैं, लेकिन प्रधानमंत्री किशन निधि का लाभ करीब 10 करोड़ किसानों को ही मिल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूरिया में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए देश में सालों से बंद पड़े पांच प्रमुख उर्वरक संयंत्रों को फिर से शुरू किया जा रहा है।

तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन रहा है भारत

मोदी ने कहा कि भविष्य में यूरिया को एक ही ब्रांड ‘भारत यूरिया’ के तहत उपलब्ध कराया जाएगा। विशेषज्ञों का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया संकट के दौर से गुजर रही है, इसके बावजूद भारत तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर बढ़ रहा है। मोदी ने यहां रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (आरएफसीएल) के उर्वरक संयंत्र का उद्घाटन किया, जिसे 6,338 करोड़ रुपये की लागत से चालू किया गया था।

प्रधानमंत्री ने रेलवे लाइन का ऑनलाइन उद्घाटन

प्रधानमंत्री ने भद्राचलम रोड से सत्तुपल्ली तक 990 करोड़ रुपये की लागत से बनी 54.1 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन का भी ऑनलाइन उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि विशेषज्ञों के मुताबिक देश ने 1990 के बाद पिछले तीन दशकों में जो विकास देखा है, पिछले आठ सालों में जो बदलाव हुए हैं, वे कुछ ही सालों में होंगे. उन्होंने कहा, ‘पिछले दो-तीन साल से दुनिया कोरोना महामारी से लड़ रही है. दूसरी ओर, संघर्ष चल रहे हैं, सैन्य अभियान हो रहे हैं और यह देश और दुनिया को प्रभावित कर रहा है।

मोदी ने कहा, ‘इस मुश्किल हालात में भी एक और बात पूरी दुनिया में सुनने को मिल रही है. दुनिया भर के विशेषज्ञों का कहना है कि भारत जल्द ही दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा और उस दिशा में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले आठ सालों में शासन, सोच और तौर-तरीकों में बदलाव आया है. मोदी ने कहा कि बुनियादी ढांचा हो, सरकारी प्रक्रियाएं हों या कारोबार करने में आसानी… ये सभी बदलाव भारत के ‘आकांक्षी समाज’ को प्रेरित कर रहे हैं।

Viral Video