Big Deal : Google और Airtel के बीच 1 अरब डॉलर की साझेदारी।

अमेरिका की दिग्गज कंपनी गूगल ने दिल्ली की टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल के साथ बड़ी डील की है। Google ने इस साझेदारी में 1 अरब डॉलर तक के निवेश की घोषणा की है। इसमें भारती एयरटेल में 1.28 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 70 करोड़ डॉलर का इक्विटी निवेश और संभावित बहु-वर्षीय वाणिज्यिक अनुबंध के लिए 30 करोड़ डॉलर तक का निवेश शामिल है।

28 जनवरी को, Airtel ने घोषणा की कि Google 73 734 प्रति शेयर पर फर्म में 1.28 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 700 मिलियन डॉलर का निवेश करेगा। Google लंबी अवधि के वाणिज्यिक समझौते में एक और $ 300 मिलियन का निवेश करेगा। यह किफायती स्मार्टफोन बनाने, 5G लाभों को बढ़ावा देने और भारत में 5G सेवाओं के विस्तार में निवेश करेगा। इसके अलावा, समझौते में विशेष रूप से छोटे और मध्यम व्यवसायों (एसएमबी) के लिए क्लाउड अपनाने में तेजी शामिल होगी। एयरटेल डायरेक्ट ब्रॉडकास्ट सैटेलाइट (डी2एच) और एयरटेल ओटीटी प्लेटफॉर्म के एक्सटेंशन को भी शामिल किया जा सकता है। ये निवेश 2020 में घोषित गूगल के 10 अरब डॉलर के भारत डिजिटाइजेशन फंड का हिस्सा हैं।

क्या यह 5G पर काम कर रहा है?

आपको याद हो कि जियो ने 2021 में गूगल के साथ साझेदारी में एक सस्ता 4जी डिवाइस लॉन्च किया था। इसी तरह, Airtel और Google संयुक्त रूप से भारत में सस्ते 5G फोन लॉन्च कर सकते हैं। एयरटेल पहले से ही Google के 5G-रेडी पैकेट कोर और सॉफ्टवेयर-परिभाषित नेटवर्क प्लेटफॉर्म का उपयोग कर रहा है। इसके अलावा, यह अपने ग्राहकों को बेहतर नेटवर्क अनुभव प्रदान करने के लिए Google के नेटवर्क वर्चुअलाइजेशन समाधान को बेहतर बनाने की योजना बना रहा है। बयान में कहा गया है कि इस साझेदारी का एक मुख्य लक्ष्य 5जी का विस्तार करना है। दोनों कंपनियां संभवत: 5G और अन्य मानकों के लिए भारत में एक विशिष्ट नेटवर्क डोमेन पर एक साथ काम करेंगी।

भारत में Google का पिछला निवेश

गूगल ने हाल ही में टेलीकॉम प्रतिद्वंद्वी रिलायंस जियो में 4.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। इसके अलावा, Google ने एक दर्जन से अधिक स्टार्टअप का समर्थन करते हुए भारत में निवेश किया है, जो भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जा सकता है।

भारत को लेकर गंभीर है गूगल

आपको बता दें कि गूगल पिछले कुछ सालों से भारतीय बाजार को लेकर काफी गंभीर नजर आ रहा है। यही कारण है कि Google भारत में और अधिक निवेश करना चाहता है। यह समझौता एयरटेल और गूगल दोनों के लिए पारस्परिक रूप से लाभकारी साझेदारी हो सकती है हालांकि जानकारों का मानना ​​है कि इस निवेश से टेलीकॉम में कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा।

स्मार्टफोन पर मिल सकती है छूट

Airtel अभी तक स्मार्टफोन्स पर डिस्काउंट और सब्सिडी नहीं दे रही है। भारती एयरटेल के पूर्व सीईओ कपूर ने कहा कि भारती (एयरटेल) को एक डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र और किफायती उपकरणों के विकास के लिए $ 300 मिलियन प्राप्त होंगे जो एयरटेल की भागीदारी के साथ सहायक उपकरणों को आसान और बेहतर बनाएंगे।

सस्ते स्मार्टफोन उपलब्ध कराने का फायदा

भारत, 1.3 अरब लोगों का देश, बड़े तकनीकी खिलाड़ियों के लिए सबसे आकर्षक बाजारों में से एक है। एक स्टडी के मुताबिक भारत अब धीरे-धीरे डिजिटल हो रहा है। शहरों और कस्बों में डिजिटल उपयोगकर्ता ऑनलाइन आ रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, भारत में अगले पांच वर्षों में लगभग 500 मिलियन स्मार्टफोन उपयोगकर्ता होंगे, जिनमें से 270 मिलियन फीचर फोन उपयोगकर्ता स्मार्टफोन में अपग्रेड करेंगे। ये लोग वर्तमान में कीपैड फीचर फोन संचालित करते हैं और निकट भविष्य में उनके हाथों में स्मार्टफोन होगा। ऐसे में एयरटेल में गूगल का निवेश काफी फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि दोनों कंपनियां मिलकर एक सस्ता 5जी स्मार्टफोन लॉन्च करने की तैयारी कर रही हैं।

विज्ञापन से बढ़ेगी आमदनी

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि भारत दुनिया भर की कंपनियों के लिए सबसे बड़ा Android बाजार है और अगले 10 वर्षों में उनके लिए सबसे बड़ा विज्ञापन बाजार बन जाएगा। देश के 1.3 अरब उपयोगकर्ताओं में से केवल 500 मिलियन के पास स्मार्टफोन हैं, और कई फीचर फोन से स्मार्टफोन में अपग्रेड करेंगे। ऐसे में गूगल इन यूजर्स को एयरटेल के साथ पार्टनरशिप में सस्ते एंड्रॉयड स्मार्टफोन मुहैया कराएगा। इसके अलावा, Google इन उपयोगकर्ताओं को प्लेटफ़ॉर्म से जोड़ेगा और ये उपयोगकर्ता भविष्य में Google के विज्ञापन से राजस्व उत्पन्न करेंगे।