उपराष्ट्रपति उम्मीदवार जगदीप धनखड़ कौन हैं ? Biography of jagdeep dhankhar in Hindi

  •  उपराष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त 2022 को होगा।

  • नामांकन की अंतिम तिथि 19 जुलाई है।

  • वर्तमान उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है।

  • 11 तारीख को नए उपराष्ट्रपति शपथ लेंगे।


जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) एनडीए के उपराष्ट्रपति (vice president) पद के उम्मीदवार घोषित किए गए हैं।राजस्थान (Rajasthan) के जाट समुदाय (Jat community) से आने वाले पश्चिम बंगाल के राज्यपाल (West Bengal Governor) जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) का नाम ली घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रसन्नता प्रकट करते हुए कहा उन्होंने हमेशा किसानों, युवाओं, महिलाओं और वंचितों की भलाई के लिए काम किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा की, किसान पुत्र जगदीप धनखड़ जी अपनी विनम्रता के लिए जाने जाते हैं। वह अपने साथ एक शानदार कानूनी, विधायी और गवर्नर करियर लेकर आए हैं। उन्होंने हमेशा किसानों, युवाओं, महिलाओं और वंचितों की भलाई के लिए काम किया है। खुशी है कि वह हमारे Vice President उम्मीदवार होंगे।

श्री जगदीप धनखड़ जी को हमारे संविधान का उत्कृष्ट ज्ञान है। वह विधायी मामलों से भी अच्छी तरह वाकिफ हैं। मुझे विश्वास है कि वह राज्य सभा में एक उत्कृष्ट अध्यक्ष होंगे और राष्ट्रीय प्रगति को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से सदन की कार्यवाही का मार्गदर्शन करेंगे।

 

Biography of jagdeep dhankhar

जन्म 

जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar), जिनका जन्म 18 मई, 1951 को राजस्थान के झुंझुनू जिले के किठाना गाँव में हुआ था, ने 30 जुलाई, 2019 को बंगाल के राज्यपाल के रूप में पदभार ग्रहण किया।

शिक्षा 

जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) की प्राथमिक शिक्षा (कक्षा 1 से 5 तक) गांव के सरकारी स्कूल में हुई। छात्रवृत्ति मिलने के बाद उन्होंने चित्तौड़गढ़ के सैनिक स्कूल में प्रवेश लिया।

जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) ने प्रतिष्ठित महाराजा कॉलेज, जयपुर से बीएससी (ऑनर्स) की डिग्री प्राप्त की। उन्होंने राजस्थान यूनिवर्सिटी से लॉ (एलएलबी) की पढ़ाई की है। 

जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar)1979 में राजस्थान बार काउंसिल में शामिल हुए। वे 27 मार्च 1990 को वरिष्ठ अधिवक्ता बने। तब से धनखड़ ने सुप्रीम कोर्ट में भी प्रैक्टिस करना जारी रखा। 1987 में वे राजस्थान उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी चुने गए।

राजनीतिक करियर

जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) के राजनीतिक करियर की शुरुआत 1989 में हुई थी। उस वर्ष उन्होंने भाजपा के समर्थन से जनता दल के टिकट पर झुंझुनू से लोकसभा चुनाव लड़ा और पहली बार संसद में जीत हासिल की। वे केंद्र में मंत्री भी थे।

जनता दल के विभाजन के बाद, वह पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा के खेमे में चले गए। लेकिन जनता दल से टिकट न मिलने के बाद उन्होंने कांग्रेस का रुख किया। उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर अजमेर से लोकसभा चुनाव भी लड़ा, लेकिन हार गए।

2003 में बीजेपी में शामिल हो गए। 1993 और 1998 के बीच, वह अजमेर में किशनगढ़ विधानसभा से विधान सभा के सदस्य रहे। लोकसभा और विधानसभा में अपने कार्यकाल के दौरान वे कई महत्वपूर्ण समितियों के सदस्य रहे।

Viral Video