Personal financeबिज़नेस न्यूज़वेल्थ

Bitcoin, Ethereum और अन्य Cryptocurrency को नही मिलेगा कानूनी दर्ज़ा !

Bitcoin or Ethereum जैसी क्रिप्टोकरेंसी(Cryptocurrency) को देश में कभी भी कानूनी दर्जा नहीं मिलेगा। वित्त सचिव(Finance Secretary) टी वी सोमनाथन ने कहा कि केवल भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी किए गए डिजिटल रुपया को कानूनी दर्जा प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि क्रिप्टो एसेट्स(Crypto Assets) का मूल्य दो लोगों के बीच निर्धारित होता है। आप सोना(Gold), हीरे(Diamond) और क्रिप्टो एसेट्स(Crypto Assets) खरीद सकते हैं लेकिन उस कीमत को सरकार द्वारा स्वीकृत नहीं किया जाएगा।

सोमनाथन ने ANI को बताया, “डिजिटल रुपये के पीछे RBI की ताकत होगी जो कभी भी डिफॉल्ट नहीं होगी। आरबीआई के पास पैसा होगा लेकिन यह डिजिटल प्रकार होगा। RBI द्वारा जारी डिजिटल रुपये की कानूनी दर्जा होगा। डिजिटल रुपये के साथ हम नॉन- “डिजिटल एसेट्स जैसे हम अपने वॉलेट के माध्यम से चीजें खरीदते हैं या यूपीआई प्लेटफॉर्म के माध्यम से भुगतान करते हैं,” खरीदने में सक्षम सक्षम होंगे। उन्होने बताया की Bitcoin, Ethereum या किसी एक्टर की पिक्चर से जुड़ा NFT को कभी कानूनी मंजूरी नही मिलेगी। इस रिपोर्ट को लिखते समय Bitcoin की कामत 30.84 लाख रुपये और Ethereum की कीमत 2.24 लाख रुपये थी।

उनका कहना है कि जो लोग क्रिप्टोकरेंसी(Cryptocurrency) में निवेश करते हैं, उन्हें यह समझना चाहिए कि वे सरकार द्वारा स्वीकृत नहीं हैं। इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि यह निवेश सफल होगा या नहीं। इससे नुकसान भी हो सकता है और इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है। साथ ही, सोमनाथन यह स्पष्ट करते हैं कि जो चीजें कानूनी नहीं हैं, उनका मतलब यह नहीं है कि वे अवैध हैं। सोमनाथन ने कहा, “बिटकॉइन(Bitcoin) या एथेरियम(Ethereum) अवैध नहीं है। मैं कह सकता हूं कि भले ही क्रिप्टोकरेंसी(Cryptocurrency) के लिए रेग्युलेशन(Regulation) आता भी है तो इसे कानूनी दर्जा नहीं मिलेगा।”

सोमनाथन ने कहा कि रेगुलेशन में केवाईसी(KYC), वेंडर लाइसेंस(Vendor Licence) जैसे नियम हो सकते हैं। सरकार बाद में फैसला लेगी। हम यह भी देखेंगे कि दूसरे देशों में क्या हो रहा है। डिजिटल रुपये के बारे में उन्होंने कहा, यह Bitcoin या Ethereum जैसा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पेटीएम(Paytm), यूपीआई(UPI) जैसे डिजिटल वॉलेट(Digital Wallet) की तरह डिजिटल रुपये(Digital Rupee) से लेनदेन किया जा सकता है। डिजिटल रुपये को मिलेगा कानूनी दर्जा और कैश भुगतान(Cash Payment) के बराबर होगा। 

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video