अंधविश्वास ! नवजात की बलि देकर मरे हुए पिता को ज़िंदा करना चाहती थी बेटी

Blindfaith: दिल्ली में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दक्षिण दिल्ली के कोटला मुबारकपुर इलाके में रहने वाली एक युवती ने अपने मृत पिता को वापस लाने के लिए दो महीने के बच्चे को मानव बलि के रूप में मारने के लिए उसका अपहरण कर लिया। वह बालक की पूजा कर रही थी। मानव बलि के नाम पर बच्चे की हत्या से पहले अमर कॉलोनी पुलिस मौके पर पहुंची और मासूम को छुड़ाया। अमर कॉलोनी थाने की पुलिस ने युवती श्वेता (30) को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी लड़की की मां की भूमिका की जांच कर रही है।

दक्षिण पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, मुकुल देवी की पत्नी राजेश सिंह कैलाश के पूर्व ममराज महला में रहती है। मुकुल देवी को आईवीएफ के द्वारा 18 साल बाद दो महीने पहले एक बच्चा हुआ था। गुरुवार शाम को बच्चा अचानक घर से लापता हो गया। पीड़ित परिवार ने अमर कॉलोनी थाने में शिकायत की। इस घटना मे शुक्रवार को अमर कॉलोनी थाने में मामला दर्ज किया गया।

एसीपी कालकाजी प्रदीप कुमार की निगरानी में अमर कॉलोनी एसएचओ प्रदीप कुमार की टीम ने जांच शुरू की। जांच के बाद इस टीम ने श्वेता को शुक्रवार दोपहर कोटला मोबारकर थाने से गिरफ्तार किया। श्वेता बालक की पूजा कर रही थी। पूजा के बाद मानव बलि के नाम पर बच्चे की हत्या करती। उन्होंने हत्या के उपकरण भी एकत्र किए।

श्वेता अपनी मां के साथ रहती है। करीब पांच साल पहले उसके पिता की मौत हो गई थी। किसी ने उनसे कहा कि उनके पिता बच्चे की बलि देकर धरती पर लौट आएंगे। इसके लिए वह बच्चे की तलाश करती रही। इसके लिए वह सफदरजंग अस्पताल जाने लगी। साजिश में उसकी मुकुल देवी से मुलाकात हुई थी। मुकुल देवी बच्चे को दिखाने सफदरजंग अस्पताल जाया करती थी। इसके तहत वह पीड़िता के परिवार के घर जाने लगी। गुरुवार को वह पीड़ित परिवार के घर गयी और बच्चे को चुरा लिया। वह पहले भी दो बार पीड़ित परिवार के घर जा चुकी थी। पीड़ित परिवार के पास घर का पता या श्वेता का मोबाइल नंबर नहीं था।

Viral Video