Chanakya Niti : चाणक्य की इन नीतियों को अपनाने से व्यवसाय मे होगा लाभ

Chanakya Niti : एक सफल बिजनेसमैन बनने के लिए कई बातों का जिक्र करती है। बिजनेस को टॉप पर ले जाना चाहते हैं तो चाणक्य की इन बातों को न करें नजरअंदाज। ये नीतियां व्यापार में बहुत उपयोगी हैं।

रिसर्च करना

चाणक का कहना है कि बिजनेस शुरू करने से पहले उसके बारे में पूरी तरह से रिसर्च कर लें। कितना निवेश करना है, मौजूदा प्रतिस्पर्धियों की जानकारी, नुकसान की भरपाई के लिए रणनीति आदि की अधूरी जानकारी के साथ, आपको हमेशा नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

अक्सर कई व्यापारी अपने विरोधियों को देखकर अपनी नीतियों को बदलने की सोचते हैं, जो बिल्कुल वैसा ही है, लेकिन इसे लागू करने से पहले पूरी तरह से बाजार अनुसंधान करते हैं। नई नीति से कितना फायदा होगा, कितना नुकसान होगा, जनता की नजर में आप दूसरों से अलग छवि कैसे बना पाएंगे। इन सभी मामलों की जानकारी व्यक्ति को व्यावसायिक नुकसान से बचाती है।

अनुशासन

चाणक्य नीति का कहना है कि सफलता की ओर पहला कदम कड़ी मेहनत और अनुशासन है। अनुशासन मेहनत का सार्थक परिणाम देता है। काम के प्रति ईमानदार रहें। साथ काम करने वाले साथियों में खुद के अलावा अनुशासन की भावना का होना भी जरूरी है, क्योंकि अकेले बिजनेस में सफलता नहीं मिल सकती।

वाणी

वही लोग व्यापार में प्रगति करते हैं जो कुशल आचरण वाले एक अच्छे वक्ता हैं। वाणी जितनी मधुर होगी, व्यापार उतना ही समृद्ध होगा। कड़ी मेहनत के साथ, स्पष्ट रूप से सफलता का एक स्रोत है। वाणी आपके काम को बना भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है। वहीं एक कुशल व्यवसायी को अपने रिश्तों के प्रति हमेशा सचेत रहना चाहिए। कड़वी एवं कठोर वाणी से  रिश्ते खराब हो सकते हैं, इसलिए वाणी को संयमित रखें।

जोखिम उठाने की हिम्मत

ऐसा कोई व्यवसाय नहीं है जहाँ जोखिम न हो, व्यवसाय कभी घबराता नहीं है। ऐसे समय में कई नकारात्मक विचार उत्पन्न होंगे, उन्हें अपने ऊपर हावी न होने दें। अपने आप पर विश्वास करें और घाटे को मुनाफे में बदलने के लिए पूरे जोर के साथ रणनीति तैयार करें।

Viral Video