इन नस्ल के कुत्तो को पालना पड़ेगा भारी, दर्ज हो सकती है FIR

Pitbull and Rottweiler: देश के सभी लोगों को अक्सर कुत्ते पालने का शौक होता है। लोग कुत्तो को बहुत प्यार और चाव से पालते है। कुत्ते पालने के पीछे का कारण सुरक्षा और पालतू जानवरों से लगाव होता है। लेकिन अब इस संबंध में नए नियम लाए गए हैं। यदि आप इन नियमों का पालन नहीं करते हैं, तो आपके खिलाफ FIR दर्ज की जाएगी।

हाल ही में दिल्ली समेत विभिन्न इलाकों में बुजुर्गों और बच्चों पर हमले की कई खबरें आ रही हैं। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में बच्चे व बुजुर्ग घायल होने की घटना बहुत हो रही है। लेकिन अब सरकार ने इस पर रोक लगा दी है।

अगर कोई पिटबुल और रॉटवाइलर जैसे कुत्ते की नस्ल रखता है तो इसके बाद उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कुत्तों की ये सभी नस्लें गाजियाबाद में प्रतिबंधित हैं। अगर लोगों के पास इस नस्ल के कुत्ते हैं तो वे अपने नजदीकी नगर निगम को सूचित कर सकते हैं। नहीं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ऐसे कुत्तों को रखना गैरकानूनी है। और इसके लिए पुलिस आपके खिलाफ वारंट भी लिख सकती है। यदि आपका कुत्ता किसी पर हमला करता है या विशेष नुकसान पहुंचाता है, तो आप पर जानबूझकर हत्या का मुकदमा चलाया जा सकता है। इसको लेकर सरकार अब सख्त हो गई है। और लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। हालांकि, अब कोई भी ऐसा कुत्ता नहीं रख सकता जो पिटबुल और स्ट्रीट डॉग दोनों हो। अगर आपके पास इस नस्ल का कुत्ता है तो उसे सरकार को सौंपने में संकोच न करें। क्योंकि ऐसा नहीं होना चाहिए कि आपको आगे चलकर किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़े।

कुत्ते पालते समय किन बातों का ध्यान रखे ?

  • घरेलू कुत्तों के लिए हर साल नाइन इन वन टीका लगवाएं।
  • कुत्ते को परेशान न करें यदि वह वही खाना खाता है जिसमें उसकी रुचि है।
  • मांसाहारी भोजन देने से बचें।
  • उसके पास लाठी या अन्य हानिकारक वस्तु न ले जाएं, हिंसक हो सकता है।
  • इसे घर में बांध कर न रखें, घर में घूमने की आजादी दें।

कुत्ते के काटने पर क्या करना चाहिए?

  • घाव को साबुन और बहते पानी से अच्छी तरह धो लें।
  • खून बहने से रोकने के लिए घाव के चारों ओर एक तौलिया रखें।
  • रेबीज के खतरे से बचने के लिए तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।
Viral Video