Edible oil : केंद्र सरकार का बड़ा फैसला,पेट्रोल डीजल के बाद खाने का तेल हुआ सस्ता।

Edible oil : मंहगाई की मार झेल रही आम जनता के लिए राहत भरी खबर है। खाद्य तेल की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सालाना 20 लाख टन कच्चे सोयाबीन तेल और सूरजमुखी के तेल के आयात पर अब आयात शुल्क नहीं लगेगा। वहीं, 2 साल के लिए कृषि अवसंरचना विकास उपकर से राहत दी गई है। इस संबंध में केंद्र सरकार ने नोटिफिकेशन जारी किया है। इस फैसले से उपभोक्ताओं को राहत मिलने की उम्मीद है।

Edible Oil Price : बढ़ते मंहगाई के बीच कैसे पहचान करें असली सरसों के तेल की ?

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कच्चे सोयाबीन तेल और कच्चे सूरजमुखी के तेल के लिए सालाना 20 लाख मीट्रिक टन का शुल्क मुक्त आयात दो वित्तीय वर्षों (2022-23, 2023-24) के लिए लागू होगा। यह छूट घरेलू कीमतों को कम करने और मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने में मदद करेगी।