खुशखबरी! किसानो को पराली के बदले मिलेगी मोटी रकम

Good News for Farmers : धान की पराली जलाने का मौसम आ गया है। पराली से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें तरह-तरह के कदम उठा रही हैं। इससे पहले हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में कई जगहों से पराली जलाने की घटनाएं हो चुकी हैं। इसी क्रम में अब हरियाणा के पानीपत स्थित इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) की रिफाइनरी ने पराली से एथेनॉल बनाने के लिए किसानों से पराली खरीदने की घोषणा की है।

किसानों को पराली के बदले मिलेगा पैसा

दरअसल, पराली से एथेनॉल बनाने के लिए रिफाइनरी में प्लांट लगाया गया है। आपको याद होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो महीने पहले इस एथेनॉल प्लांट का उद्घाटन किया था। अब पानीपत रिफाइनरी 172 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानों से भूसा खरीदेगी। इसे सीधे किसानों के खेतों से उठाया जाएगा।

किसानों को होगा बहुत फायदा

इस कदम से किसानों को काफी फायदा होगा। अगर किसान खुद पराली बेलर से पुआल की गांठें बनाता है, तो प्रति एकड़ केवल एक हजार का खर्च आता है, और एक एकड़ में धान का भूसा 3500 रुपये तक बिकता है। दूसरे शब्दों में, किसानों को बहुत लाभ होगा। इससे किसानों को प्रति एकड़ 1,500 रुपये की बचत होगी और साथ ही उन्हें पराली नहीं जलानी पड़ेगी। आपको बता दें कि पराली प्रबंधन के लिए हरियाणा सरकार किसान को एक हजार रुपये प्रति एकड़ अलग से देती है।

खरीदारी कैसे होती है?

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार इसके लिए प्लांट द्वारा पड़ोसी जिलों में पराली संग्रहण केंद्र स्थापित किए गए हैं, जहां से भूसा एकत्र किया जाएगा। रिफाइनरी को पराली खरीदने के लिए किसानों को गांठें बनानी पड़ती हैं। करीब 900 करोड़ रुपये की लागत से बने इस प्लांट की क्षमता प्रतिदिन 100 किलोलीटर (1 किलोलीटर से 1 हजार लीटर) एथेनॉल का उत्पादन करने की है।

Viral Video