होम हेड लाइन मध्य प्रदेश मनोरंजन बिजनेस पर्सनल फाइनेंस ब्यूटी फैशन
---Advertisement---

Health Policy : हेल्थ क्लेम रिजेक्ट हो जाने की स्थिति पर क्या करें ?

Health Policy : अधिकांश लोग इस आशा से स्वास्थ्य पॉलिसी खरीदते हैं कि उन्हें कभी इसका उपयोग करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और उन्हें यह भी विश्वास होता है कि पॉलिसी आपात स्थिति में उनकी मदद करेगी। आपको बता दें की कई ऐसे मामले होते हैं कि नियमित प्रीमियम भरने के बावजूद भी पॉलिसीधारकों का दावा खारिज कर दिया जाता है। इस तरह की अस्वीकृति पॉलिसी धारकों के लिए एक अकल्पनीय झटका लगता है।

स्वास्थ्य बीमा दावा अस्वीकार के बाद क्या करें ?

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक ऐसी स्थिति में सबसे पहले अस्वीकृति के कारणों और पॉलिसी में बताए गए नियमों का पालन करें। अस्वीकृति के मामले में नीति स्वयं दावा दायर करने और उस पर आगे बढ़ने के लिए एक प्रोटोकॉल प्रदान करती है। अधिकांश बीमा कंपनियों ने इस प्रकार की स्थिति के लिए प्रक्रियाएं निर्धारित की हैं।

  • आप संबंधित स्वास्थ्य बीमा कंपनियों के शिकायत निवारण अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं।
  • पॉलिसीधारक अस्वीकृति के मामले में संबंधित लोकपाल से संपर्क कर सकते हैं।
  • उन्हें पहले बीमा कंपनी से संपर्क करना चाहिए।
  • पॉलिसीधारक को लोकपाल के पास जाने से पहले संबंधित बीमाकर्ता से संपर्क करना चाहिए।
  • उसके बाद शिकायतकर्ता लोकपाल या उपभोक्ता अदालत से संपर्क कर सकता है।

पॉलिसी बिमा दावा खारिज पर कैसे सुधारें ?

ऐसे मामलों में जहां बीमा कंपनियों ने उन्हें इस तरह की अस्वीकृति/इंकार करने के कारणों की जानकारी देते हुए दावा खारिज कर दिया है, उसके बाद पॉलिसीधारक ऐसी कमियों को सुधारने का दावा फिर से दाखिल कर सकता है। जब पॉलिसी धारकों के पास कोई अन्य विकल्प नहीं होता है, तो वे उचित फोरम से संपर्क कर सकते हैं।

IRDAI से कैसे करें संपर्क ?

आप टोल फ्री नंबर 155255 या 1800 4254 732 पर कॉल करके या शिकायत @irdai.gov.in पर एक ई-मेल भेजकर IRDAI के शिकायत निवारण विभाग में से संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप IRDAI द्वारा संचालित ऑनलाइन पोर्टल पर शिकायत दर्ज करते हैं तो शिकायत को आगे बढ़ाने के लिए एकीकृत शिकायत प्रबंधन प्रणाली (IGMS) के मध्यम से आगे बढ़ाया जाता है।

Live TV