hindi news

MP के सीधी जिले में दुकान खोलने की शिकायत करना गुप्ता परिवार को पड़ा महंगा।

सोनू विश्वकर्मा / राकेश विश्वकर्मा

सीधी/कमर्जी।। कमर्जी थाना अंतर्गत पटपरा गाँव बाजार में सब इंस्पेक्टर द्वारा दो व्यापारियों से पैसे लेकर खुले आम खुलवाया जा रहा है दुकान,व्यापारी जब भी सब इंस्पेक्टर की ड्यूटी के लिए पटपरा मेन बाजार में तैनात होती है तो उसी दौरान मनोज गुप्ता एवं राजेश कचेर दोनों व्यापारी मिलकर तैनात सब इंस्पेक्टर प्रियंका कुशवाहा को चाय नाश्ता कराते हैं,उसके बाद खुलेआम दुकान खोलकर अपनी व्यापार का संचालन जारी रखते हैं,जब कोई भी व्यापारी लाॅकडाउन में खुली दुकानों को देखकर विरोध करते हैं तो दोनों व्यापारी मिलकर बड़े ही हर्ष के साथ कहते हैं कि जो करना है कर लो हमारा कुछ भी नहीं होगा।

गुप्ता परिवार जन का कहना है कि, जब हम लोग खुली दुकानों को देखा तो इसकी सूचना कमर्जी थाना में पदस्थ सब इंस्पेक्टर को दी तो उन्होंने उसके विपरीत ही हम लोगों के ही ऊपर मुकदमा दर्ज कर जेल के अन्दर डालने की दी जाती है धमकी।

सब इंस्पेक्टर प्रियंका कुशवाहा द्वारा बोला जाता है कि तुम लोगो को अन्दर कर दूँगी और ऐसा मुकदमा लगाउँगी की हाईकोर्ट से भी जमानत नही होगी।

राम जी गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी को सूचित का मीला परिणाम

जब शिकायत कर्ता ने जब मामले से संबंधित विडियो को थाना प्रभारी को व्हाट्सएप के जरिए राम जी गुप्ता द्वारा भेजा गया, तो तत्काल थाना प्रभारी और सब इंस्पेक्टर आक्रोश में आ गए और आक्रोशित होने के कारण हमारे घर आकर सभी परिवार जनों पर लाठी चार्ज कर सहीत दर्जनों भर धाराएँ- अपराध क्र. -163 के तहत धारा क्र. -188,269,270,271,51,3/4अपराध क्र. -164 के तहत धारा क्र. -294,427,336,506,188,269,270,271,34,51, 3/4लगाकर मुकदमा दर्ज की गई।

थाना प्रभारी का कहना है कि,

छोटू गुप्ता नामक व्यक्ति के मोटर सायकल का 2-3दिन पूर्व में चालानी कार्यवाही की थी जिसके बाद छोटु गुप्ता अभद्रता पूर्वक सब इंस्पेक्टर से पेशा रहा था,उसके बाद हमें खबर हुई की सब इंस्पेक्टर प्रियंका कुशवाहा को 4-6 लोगों मारने के लिए आए हैं तो हमने तत्काल अपनी टीम के दल-बल के साथ पटपरा बाज़ार में पहुँचे तो देखे की गुप्ता टीम ने फोन से एकत्रित कर लिए थे।

20-25 लोग जो कि लाठी-डण्डों के साथ आक्रोश से भरे तैनात थे, फिर जब हमने देखा तो उसी चौराहे पर दंग रह गया, और कुछ ही छड़ में माहौल को सुलझा कर शांत कराया और शांत होने के पश्चात हम लोग वापस लौट चले आए।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें
Back to top button