hindi newsबॉलीवुड

कमजोर निर्देशन में बनी हांफती – कांपती फ़िल्म है “राधे”।Radhe Movie Review

  • कलाकार – सलमान खान, दिशा पाटनी और रणदीप हुड्डा हैं। 
  • निर्देशक – प्रभु देवा

फ़िल्म राधे यानी पुरानी शराब नए बोतल और लेबल के साथ। इस फ़िल्म सलमान खान और प्रभु देवा ने जो कुछ डाला और बनाया वह यही दर्शाता है। डांसर से निर्देशक बने प्रभु देवा ने फ़िल्म में निर्देश तो दूर डांस के साथ भी कुछ नया क्रिएटिव नही कर पाए। 

इस फ़िल्म में जो निर्देशक प्रभु देवा ने नया किया है वह है तमिल और तेलुगु फ़िल्मों के लटके झटके का तड़का है,जो नया कम नकल ज्यादा लगता है। ऐसे में यह फ़िल्म दर्शकों को सिटी बजाने पर मजबूर कर पाएगी यह देखना होगा।


यह फ़िल्म इस बार सिनेमा हॉल में ईद पर रिलीज न होकर डीजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ हुई।


ऐसे में हर कोई बेस्ट चुनता है।

सलमान खान ने बतौर निर्माता और कलाकार के तौर पर कोशिश बेहतर निर्देशन के अभाव में ज्यादा कामयाब होता नही दिखाई देता। और जब दर्शकों के पास विकल्प होता है तो दर्शक सिर्फ फैन नहीं रह जाता वह उपभोक्ता की तरह भी सोंचता है। ऐसे में हर कोई बेस्ट चुनता है। 

क्या वाक़ई कोई कहानी नहीं है फ़िल्म राधे में ?

राधे फ़िल्म की कहानी एक एनकाउंटर स्पेस्लिस्ट की कहानी है। फ़िल्म का मुख्य किरदार राधे यानी सलमान खान के इर्द गिर्द फ़िल्म घूमती है। मुंबई में एक ड्रग माफिया का आतंक है। ड्रग माफिया के आतंक को राधे कैसे  खत्म करता है, यही मुख्य कहानी है। फ़िल्म में एक प्रेम कहानी अदाकारा दिशा पाटनी के साथ चलता है,जो कमजोर निर्देशन के कारण रोमांटिक कम कॉमेडी ज्यादा लगता है। 

शबाना परवीन

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button