GOOGL NEWS
हिन्दी न्यूज

बुजुर्ग ने बेटे से परेशान होकर 2 करोड़ की संपत्ति जिलाधिकारी के नाम लिख दी!

उत्तर प्रदेश के आगरा में एक बुजुर्ग ने अपनी सारी संपत्ति आगरा के जिलाधिकारी के नाम वसीयत कर दी है। बुजुर्ग ने आगरा सिटी मजिस्ट्रेट को वसीयत की एक प्रति भी सौंपी।

पूत कपूत तो क्यों धन संचय पूत सपूत तो क्यों धन संचय इस कहावत को चरितार्थ करता एक मामला आगरा शहर से प्रकाश में आया है। उत्तर प्रदेश के आगरा में एक बुजुर्ग ने अपनी सारी संपत्ति आगरा के जिलाधिकारी के नाम वसीयत कर दी है। बुजुर्ग ने आगरा सिटी मजिस्ट्रेट को वसीयत की एक प्रति भी सौंपी। इस बात की जानकारी खुद बुजुर्ग ने दी। मिली जानकारी के मुताबिक इस संपत्ति की कीमत करीब दो करोड़ रुपये है। बुजुर्ग पेशे से मसाला व्यापारी है और अपने बड़े बेटे से काफी परेशान है। बुजुर्ग ने कहा कि उन्होंने काफी सोच-विचार के बाद यह कदम उठाया है।

बुजुर्ग ने क्यों सौप दी करोड़ो की संपत्ति ?

आगरा के पीपलमंडी निरालाबाद निवासी गणेश शंकर पांडेय ने आगरा के जिलाधिकारी के नाम करीब 225 वर्ग गज की संपत्ति कर दिया है।गणेश ने संवाददाताओं से कहा कि घर में किसी चीज की कमी नहीं है। सब कुछ सुचारू रूप से चल रहा है। उनके साथ उनका सबसे बड़ा बेटा दिग्विजय, बहू और दो पोते-पोतियां रहते हैं, लेकिन पिछले कुछ समय से दिग्विजय लगातार एक चौथाई संपत्ति पर दावा कर रहे हैं, जो उनकी समस्या का सबसे बड़ा कारण है।

गणेश ने कहा कि उन्होंने कई बार दिग्विजय को व्यवसाय में हाथ बटाने के लिए कहा,उन्हे मनाने की कोशिश की लेकिन वह सुनने को तैयार नहीं थे और संपत्ति के लिए परेशान करते थे। उन्होंने कहा कि इसी असमंजस के चलते मैंने सारी संपत्ति जिलाधिकारी को दे दी।

इस संबंध में शनिवार को सिटी मजिस्ट्रेट एके सिंह ने बताया कि गुरुवार को उनके पास एक बुजुर्ग आया, जो पीपलमंडी निरलाबाद का रहने वाला है। उन्होंने अपनी पूरी संपत्ति जिलाधिकारी के नाम यह कहते हुए कर दी, क्योंकि वह अपने बेटे से नाराज हैं। वह एक पंजीकृत वसीयत भी लाए थे। मजिस्ट्रेट ने उससे संपत्ति के सारे दस्तावेज ले लिए हैं।


 

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

शबाना परवीन

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button