Human Trafficking : मानव तस्करी कर रहे पति-पत्नी को सिंगरौली पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल ।

सिंगरौली जिले के सरर्ई थाना क्षेत्र बरका पुलिस चौकी में 19 अगस्त को मानव तस्करी का मामला सामने आया था। जिसमें पुलिस ने तत्परता से जांच कर 2 आरोपी पति-पत्नी को इंदौर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

क्या था पूरा मामला ?

पुलिस द्वारा बताया गया की सिंगरौली के सरर्ई थाना क्षेत्रान्तर्गत बरका पुलिस चौकी इलाके से धौहनी निवासी नाबालिग के पिता लखपति सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराया गया था। जिसके द्वारा बताया गया की 15 अगस्त के दिन उसकी नाबालिग लड़की घर से बिन बताए चली गई।

नाबालिग लड़की के परिजनों ने पुलिस को बताया की अभिराज सिंह की बहन संतोषी सिंह अपने मायके आई हुई थी। जो बहला-फुसलाकर अपने साथ लेकर चली गई है। परिजनों के बताए अनुसार पुलिस ने उन संदेहियों के विरुद्ध धारा 363 का मामला दर्ज कर उनकी मोबाइल लोकेशन व काॅल डिटेल निकाला और जिसमें सम्मिलित दोनों आरोपियों को इंदौर से गिरफ्तार कर लिया।

Human Trafficking

मानव तस्करी करते पकड़े जाने पर आरोपीओं का क्या हुआ ?

सिंगरौली जिले की नाबालिग लड़की को तस्करी करते दो आरोपीओं को पुलिस ने गिरफ़्तार किया। उसके बाद उक्त दोनों आरोपीओं से पूछताछ किया गया, जिसमें बताया गया की पहले पति को छोड़कर संतोषी सिंह साजापुर के सुरेश बलाई के साथ रहने लगी। उसके बाद भाई-बहन के पवित्र त्यौहार रक्षाबंधन पर मायके आई थी। उसी समय से किशोरी के साथ रोजाना मिलना-जुलना होता रहता था।

तभी किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गई और दोनों आरोपी मिलकर उसे एक लाख रुपये में बेचने की फिराक में थे। आरोपीओं के विरूद्ध धारा 366,370,354(क) भादवि एवं 7/8 पाक्सो एक्ट पंजिबध्द कर सिंगरौली न्यायालय में पेश किया गया और न्यायालय द्वारा दोनों आरोपीओं को जेल भेज दिया गया।

इस कार्यवाही में पुलिस चौकी प्रभारी सरनाम सिंह, सउनि. तेज बहादुर सिंह, आर. तेजभान सिंह, दीपक परस्ते, मनीष शुक्ला, सूरज धाकड़, महिला आर. नेहा तिवारी, एवं किरण मवासे की सराहनीय भूमिका रही।

Viral Video