मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश की आदिवासी महिलाओं ने पेश की कामयाबी की मिसाल !

मध्यप्रदेश की आदिवासी महिलाओं ने ऐसा कमाल कर दिखाया है, जिसकी चर्चा देश ही नहीं विदेश में भी हो रही है। उन्होंने एक ऐसा साबुन बनाया है, जिसकी अमेरिका में खासी डिमांड हो रही है।खंडवा जिले के उदयपुर गांव की आदिवासी महिलाओं ने यह साबित कर दिया है की, सफलता अव्यवस्थाओं और अभावों की मोहताज नहीं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश के खंडवा जिले की महिलाओं ने एक ऐसा साबुन बनाया है, जो पूरी तरह से आयुर्वेदिक और प्राकृतिक है। और इसकी मांग दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। देश के साथ साथ अब विदेशों से भी इसके लिए आर्डर आने लगे हैं। अमेरिका से भी इस खास साबुन के लिए आर्डर आ रहे हैं।

दरअसल इस साबुन की खासियत यह है कि, यह बकरी के दूध और प्राकृतिक जड़ी बूटियों से बनाया जाता है।ये आदिवासी महिलाएं सारा दिन खेतों में काम करती हैं। और दिन भर सोयाबीन की फसल की कटाई करने के बाद शाम में साबुन बनाने का काम करती है। और इस एक साबुन की कीमत250 रुपये से लेकर 350 रुपये तक है।

पुणे के ली नामक व्यक्ति ने उदयपुर गांव में प्लांट लगाकर इसकी शुरुआत की थी। फिर उसने गांव की महिलाओं को साबुन बनाने की ट्रेनिंग दी। शुरू शुरू में इनके द्वारा बनाए गए उत्पाद सफल नहीं हुए। लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। आज इनका साबुन सफलता की नई कहानी लिख रहा है।

इसकी डिमांड को देखते हुए अब इसके कई फ्लेवर भी मौजूद है। जिसमे आम, तरबूज, सुगंधित तेल और दार्जिलिंग की चाय पत्ती आदि चीजें मिलाकर तैयार किया जाता है। इस साबुन के निर्माण से लेकर पैकेजिंग तक सब इको फ्रेंडली है। इन साबुनों की पैकेजिंग जूट से बने पैकेट मे की जाती है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर इन आदिवासी महिला की प्रशंसा की है। और इनका हौसला बढ़ाया है। उन्होंने कहा प्रदेश को आप पर गर्व है। और साथ ही उनकी सफलता के लिए उन्हें बधाई दी।

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button