मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश : पद का दुरुपयोग करने के मामले में 03 पुलिसकर्मियों को  हुआ जेल।

मध्यप्रदेश : पद का दुरुपयोग करने के मामले में 03 पुलिसकर्मियों को  हुआ जेल।

भोपाल।।मध्यप्रदेश में महिला हवलदार और 02 सिपाहियों को पद का दुरुपयोग कर अमेरिका में रहने वाली NRI महिला चिकित्सक और उसकी मां को गैरकानूनी तरीके से गिरफ्तार करने के मामले में राजधानी की एक अदालत ने मंगलवार को जेल भेजने के आदेश दिए। इस मामले के चौथे आरोपी तत्कालीन साइबर सेल DSP दीपक ठाकुर को बुधवार को कोर्ट में पेश होना है।


पढिए : 60 साल के वृद्ध के बाद सिंगरौली में नाबालिग के साथ गैंगरेप।


एसपी लोकायुक्त मनु व्यास ने मीडिया को बताया कि वर्ष-2012 में हुए एक धोखाधड़ी के मामले में पद के दुरुपयोग की शिकायत लोकायुक्त में हुई थी। जांच के बाद लोकायुक्त पुलिस ने वर्ष-2015 में साइबर सेल के तत्कालीन डीएसपी दीपक ठाकुर, हवलदार इशरत परवीन,आरक्षक सौरभ भट्ट और इंद्रपाल के खिलाफ पद के दुरुपयोग का केस दर्ज किया गया था। इस मामले में मंगलवार को लोकायुक्त पुलिस ने लोकायुक्त के विशेष न्यायाधीश अमित रंजन समाधिया की अदालत में चालान पेश किया था।

अदालत ने कोर्ट में मौजूद तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ पद के दुरुपयोग का आरोप सही पाया। साथ ही तीनों को जेल भेजने का आदेश दिया। इस मामले में आरोपित तत्कालीन डीएसपी वर्तमान में एससीआरबी में एएसपी दीपक ठाकुर को बुधवार को कोर्ट में पेश होना है।

जानिए क्या था पूरा मामला

पुणे निवासी रेनी जौहर और गुलशन जौहर रिश्ते में मां-बेटी हैं। उनका ऑनलाइन कैमरा बेचने का व्यापार था। विक्रम राजपूत नामक व्यक्ति ने वर्ष-2012 में इनसे एक कैमरा खरीदा था। चेक करने पर कैमरा खराब निकला। विक्रम ने रैनी जौहर को कैमरा वापस लेने के लिए कहा। जौहर ने तर्क दिया था कि कंपनी से शिकायत करने के बाद कैमरा वापस लिया जाएगा।


पढिए : सिंगरौली पुलिस ने जान जोखिम में डाल बचाई दो लोगों की जान !


इसी बीच विक्रम राजपूत ने साइबर सेल में मां-बेटी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करा दिया। साइबर सेल ने मां-बेटी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जेल से छूटने के बाद मां-बेटी ने साइबर सेल के तत्कालीन डीएसपी दीपक ठाकुर, आरक्षक इरशाद परवीन, आरक्षक सौरव भट्ट, आरक्षक इंद्रपाल के खिलाफ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की थी। इसमें बताया था कि संबंधित पुलिसकर्मी पांच लाख रुपये मांग रहे हैं। इस मामले में लोकायुक्त पुलिस ने संज्ञान लेकर जांच के बाद मुकदमा कायम किया था।

न्यूज़ डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button