रीवा

नाइट कर्फ्यू के दौरान रंगारंग कार्यक्रम, भाजपा के दो विधायक भी थे शामिल।

रीवा। एक कहावत है समरथ को नहिं दोष गुसाईं’। जिसका सीधा सा अर्थ होता है कि सबल और समर्थ व्यक्ति पर कोई दोष नहीं लगता। शायद यही वजह है कि रीवा में शनिवार को नाइट कर्फ्यू लगा है। बावजूद इसके भाजपा के दो विधायक ऐसे कार्यक्रम के मंच पर का मंचासीन दिखते हैं,जिसमें लगभग 300 लोगों की भीड़ मौजूद होती है।

भाजपा नेताओं के लिए नाइट कर्फ्यू कुछ नहीं ?

बीते शनिवार रात रीवा शहर के भाजपा नेता हीरेंद्र प्रताप सिंह मझियार हाउस ने मैरिज गार्डन स्वयंवर में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया। यह आयोजन विंध्य की गायिका मणि माला सिंह के जन्मदिन पर पुस्तक विमोचन का कार्यक्रम रखा गया था।कार्यक्रम की अनुमति नहीं ली गई थी। कार्यक्रम में 50 की जगह 300 लोग कार्यक्रम में शिरकत किए। मंच पर भाजपा के सेमरिया विधायक केपी त्रिपाठी और सिरमौर विधायक दिव्य राज सिंह मंचासीन रहे। आपको बता दें की रीवा में शनिवार को 95 कोरोना पॉज़िटिव मिले हैं और एक सप्ताह में यह आंकड़ा 500 तक पहुंच चुका है।


यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में कोरोना से SI की मौत,300 से अधिक पुलिसकर्मी संक्रमित


आयोजक के खिलाफ हुआ मामला दर्ज

नाइट कर्फ्यू NIGHT CURFEU के दौरान प्रशासन एवं पुलिस विभाग की जिम्मेदारी होती है कि वह नियमित रूप से रात्रि गश्त लगाए एवं सुनिश्चित करें कि कोई उल्लंघन नहीं कर रहा परंतु रीवा में ऐसा नहीं हुआ। आम आदमी पार्टी (AAP)के नेता प्रमोद शर्मा ने जब जिम्मेदार अधिकारियों को इसकी सूचना दी। शनिवार की रात 10 बजे कलेक्टर इलैया राजा टी और एसपी राकेश सिंह को कार्यक्रम की जानकारी मिली। अफसरों ने तहसीलदार को मौके पर भेजा। मौके पर गीत-संगीत चल रहा था। तहसीलदार को कई लोग बिना मास्क के दिखे। सोशल डिस्टेंसिंग के तार तार दिखी। पैलेस में थर्मल स्क्रीनिंग तक की व्यवस्था नहीं थी। ऐसे में एसपी के निर्देश पर अमहिया थाना प्रभारी उप निरीक्षक शिवा अग्रवाल ने कार्यक्रम आयोजक हीरेन्द्र प्रताप सिंह पर धारा 188 महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया।

न्यूज़ डेस्क,

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button