रीवा

फ्लाई-ओवर से रीवा में सुगम हुआ यातायात।

रीवा नगर में 43 करोड़ 50 लाख रुपये लागत के नव-निर्मित फ्लाई ओवर का वर्चुअल लोकार्पण 15 जुलाई को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था। उन्होंने कहा था इस फ्लाई ओवर का नाम सरदार वल्लभ भाई पटेल ब्रिज होगा।


पढिए :सात फेरे के बाद एक साथ फंदे में झूल कर ख़त्म कर ली जिंदगी !


फ्लाई-ओवर से सुगम हुआ यातायात

फ्लाई-ओवर के बनने से रीवा की बहु-प्रतीक्षित माँग पूरी हुई है। नव-निर्मित फ्लाई-ओवर पुल से यातायात सुगम हुआ है। नागरिकों को जाम की समस्या से निजात मिली है और उनके समय की बचत हो रही है। यह फ्लाई-ओवर रीवा शहर में वाराणसी-नागपुर मार्ग पर नवीन बस-स्टैण्ड के पास समान तिराहे में बनाया गया है। यह तिराहा शहर के अति-व्यस्त चौराहों में से एक है। फ्लाई-ओवर पुल की लम्बाई 1533 मीटर है और चौड़ाई 12.90 मीटर एवं 8.40 मीटर है। इसे 24 माह में म.प्र. शासन के लोक निर्माण विभाग द्वारा बनवाया गया है।


पढिए :अपनी सरकार संवेदना से चलने वाली सरकार है,जनता के सेवक हैं।- CM शिवराज


सीधी और शहडोल की ओर से आने-जाने वाला यातायात, रीवा शहर से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग वाराणसी-नागपुर एन.एच.-7, जो वर्तमान में एन.एच.-30 हो गया है, का यातायात, साथ ही एक तरफ रामपुर कर्चुलियान और दूसरी तरफ बेला की ओर से आगे सतना-अमरपाटन तरफ से बढ़ता आवागमन समान तिराहे पर यातायात का भारी दबाव बनाता है। समीप ही अंतर्राज्यीय बस-स्टैण्ड और ज्योति सीनियर सेकेण्डरी स्कूल होने से भी यातायात का भारी दबाव रहता था। अब फ्लाई-ओवर के निर्माण से यातायात की रफ्तार बढ़ी है और क्षेत्रवासियों को काफी हद तक राहत भी मिली है।

विन्ध्य क्षेत्र का चहुँमुखी विकास निरंतर जारी रहेगा।-CM चौहान 


रीवा नवनिर्मित फ्लाई-ओवर का नाम सरदार वल्लभ भाई पटेल ब्रिज होगा।

विन्ध्य क्षेत्र का चहुँमुखी विकास निरंतर जारी रहेगा। वहाँ अधो-संरचना विकास, स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार, शिक्षा, कौशल विकास, रोजगार आदि सभी क्षेत्रों में कार्य किया जा रहा है। क्षेत्र में उद्योगों का जाल विछाया जा रहा है। कृषि आधारित उद्योग भी प्रारंभ किये जा रहे हैं। विकास गतिविधियों से विन्ध्य क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़े हैं। सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल भी रीवा में प्रारंभ हुआ है। एशिया का सबसे बड़ा सोलर पावर प्रोजेक्ट स्थापित किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान


 

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज़ डेस्क,

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button