मध्यप्रदेश

माँ की ममता से हार गया कोरोना

मिलिए मध्यप्रदेश की माओं से जो कोरोना संक्रमण के दौर में बनीं मिसाल।

मध्यप्रदेश के दो प्रमुख शहर भोपला और इंदौर जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या ज्यादा है,वहां से जो तस्वीरें सामने आई हैं,वह शुकून देने वाली है। यह तस्वीरें कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे लोगों के लिए प्रेरणा हैं। पहली तस्वीर इंदौर की है। जहां कोरोना से पूरी तरह स्वस्थ हो चुके 16 मरीजों को रविवार को डिस्चार्ज किया गया। इनमें मनोरमागंज निवासी 24 वर्षीय फरहा भी थी। पॉजिटिव होते हुए भी फरहा ने अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया। दोनों घर लौटे तो अस्पताल प्रबंधन ने ढोलक बजाकर उन्हें विदाई दी। नवजात को तोहफे भी दिए गए।

पहली तस्वीर भोपाल की है,जहां पिता डॉ. सौरभ पुरोहित के बाद जब दो साल का वीर भी कोरोना संक्रमित हुआ तो डॉक्टर मां विभा ने अपने आंचल में ही उसका इलाज करने का फैसला किया। जोखिम की परवाह किए बिना बेटे के साथ अस्पताल गईं। पांच साल का बड़ा बेटा अरिंजय इन दोनों के बगैर कैसे रहता तो वह भी मां के साथ अस्पताल जा पहुंचा। वीर के साथ मां और भाई भी संक्रमित हो गए। लेकिन वे घबराए नहीं, मुकाबला किया और कोरोना को हराकर रविवार को तीनों घर पहुंचे।

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Enable Notifications    OK No thanks