MP : रुक सकता है इस महीने कर्मचारियों का वेतन !

मार्च का महीना वित्तीय वर्ष का आखिरी महीना होता है। ऐसे में मध्यप्रदेश के कर्मचारियों पर वेतन का संकट मंडरा रहा है। इसका कारण अधिकारियों व कर्मचारियों का ESS प्रोफाइल अपडेट ना होना बताया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य शासन की ओर से अधिकारीयों व कर्मचारियों को अपने Employ Self Service (ESS) डाटा बेस मॉडल को अपडेट करने के दिशा निर्देश दिए गए थे। परंतु लाखों कर्मचारियों का ESS डेटाबेस प्रोफाइल अभी तक अपडेट नहीं हो सका है। ऐसे में कर्मचारियों के इस महीने के वेतन अटकने के कयास लगाए जा रहे हैं।

दरअसल वित्त विभाग के आदेशानुसार सभी विभागों के अधिकारीयों व कर्मचारियों को 28 फरवरी तक अपने ESS डाटा बेस मॉडल को अपडेट करने के दिशा निर्देश दिए गए थे। इस मामले में कलेक्टर के द्वारा वित्त विभाग को लगातार निर्देश भी दिए जा रहे थे। इसके बावजूद आधे से अधिक अधिकारियों व कर्मचारियों की ESS प्रोफाइल अपडेट नहीं हो सकी है। ऐसे में अधिकारी कर्मचारी के वेतन को रोकना विभागों के आहरण संवितरण अधिकारी (DDO) की मजबूरी बन गई है।

आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश के 51 फ़ीसदी अधिकारियों व कर्मचारियों का डेटाबेस अपडेट नहीं हुआ है। जिसमें विंध्याचल से 42 फ़ीसदी, भोपाल से 39 फ़ीसदी कर्मचारियों के द्वारा ही ESS प्रोफाइल अपडेट कराया गया है। वही सीधी जिले की स्थिति सबसे निराशाजनक है यहां से केवल 13 फ़ीसदी कर्मचारियों ने ही ESS प्रोफाइल अपडेट कराया है। इसके साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग, महिला बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग भी डेटाबेस अपडेट करने में सबसे पीछे हैं।

क्या है ESS प्रोफाइल व इसके लाभ

ESS प्रोफाइल अपडेट होने की स्थिति में अधिकारियों व कर्मचारियों के रिटायरमेंट के बाद पेंशन संबंधी मामलों का निराकरण तेजी से हो सकेगा। साथ ही संबंधित अधिकारी कर्मचारी स्वयं के लॉगिन पासवर्ड से भी कर्मचारी के ESS प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। एवं आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय प्रमुख के लॉग इन आईडी से त्रुटि सुधार भी करा सकेंगे।

इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से कर्मचारी की प्रोफाइल अपडेट होते ही, उन्हें 5 से 10 लाख रुपए के मेडिकल इंश्योरेंस का लाभ भी मिल सकेगा। जिसमें कर्मचारी के परिवार वाले भी शामिल हैं। इसके साथ साथ डाटा अपडेट होने की स्थिति में सिंगल क्लिक के ज़रिए कर्मचारियों के वेतन व पेंशन संबंधी कार्य पूर्ण होंगे।