मध्यप्रदेशसरकारी योजना

MP Free Cycle Yojana : मध्य प्रदेश में 5 लाख से अधिक स्कूली बच्चो को मिलेगा मुफ्त साईकिल

MP Free Cycle Yojana (मध्य प्रदेश साइकिल वितरण योजना): मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों के छात्रों को दो साल बाद साइकिल मिल सकेगी। बता दें कि नए सत्र में 6वीं और 9वीं कक्षा में दाखिल बच्चों को ही साइकिल मिलेगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दो साल में वंचित छात्रों को साइकिल मुहैया कराने की कोई योजना नहीं है। लोक शिक्षण विभाग (डीपीआई) ने इस साल प्रवेशित साढ़े पांच लाख छात्रों को साइकिल देने का लक्ष्य रखा है।

MP Free Cycle Yojana (मध्य प्रदेश साइकिल वितरण योजना): स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने जानकारी देते हुए कहा कि महामारी (Pandemic) के कारण बजट की स्थिति ठीक नहीं है। इस बार इस सत्र के बच्चों को ही साइकिल दी जाएगी। भोपाल और इंदौर में पायलट प्रोजेक्ट के तहत ई-रुपये के माध्यम से राशि उपलब्ध कराई जाएगी, शेष जिलों में वे साइकिल खरीदकर देंगे ।

डीपीआई साइकिल के लिए पात्र छात्रों की सूची तैयार कर रहा है। इसके लिए जिलों से छात्रों की अनुमानित संख्या पूछी गई है। मैपिंग के बाद सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा। 2020-21 सत्र के लिए साइकिल उपलब्ध कराने का प्रस्ताव जनवरी 2020 में तैयार हो गया था, लेकिन महामारी (Pandemic) के चलते मार्च 2020 में देश भर में लॉकडाउन कर दिया गया। तब से सितंबर 2021 तक स्कूल नियमित रूप से नहीं खुल सके। पिछले सत्र के बाद प्रस्ताव को भी ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था।

MP Free Cycle Yojana (मध्य प्रदेश साइकिल वितरण योजना)

6वीं और 9वीं के छात्रों को लाभ दिया जाता है

मध्य प्रदेश सरकार 6वीं और 9वीं के छात्रों को मुफ्त साइकिल प्रदान करती है। 2019-20 में प्रदेश के करीब 8 लाख छात्रों को साइकिल दी गई. 2019 में छोटे गांवों में रहने वाले इन राष्ट्रीय छात्रों को भी प्रोजेक्ट में शामिल किया गया था। जिन्हें स्कूल जाने के लिए 2 किमी पैदल चलना पड़ता है।

भोपाल और इंदौर में राशि का भुगतान ई-रुपये के माध्यम से किया जाएगा

मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत छात्र साइकिल की राशि का भुगतान इंदौर, भोपाल में किया जाएगा. अन्य जिलों में खरीद कर साइकिल उपलब्ध कराई जाएगी। योजना सफल होने पर अगले सत्र से सभी को ई-रुपये के माध्यम से भुगतान किया जाएगा।

2019-20 में साइकिल वितरण की स्थिति

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2019-20 में मध्य प्रदेश सरकार ने इतने साइकिल बांटे गए है 

  • प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों की संख्या: 1,42,512
  • उच्च विद्यालयों और उच्च विद्यालयों की संख्या: 6,534
  • 6वीं और 9वीं बच्चे जिन्हें साइकिल दी गई: 7,91,406
  • साइकिल खरीदने में खर्च हुई कीमत 1.89 अरब रुपये है।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video