hindi newsभारत

फेसबुक के पिछले पॉलिसी डायरेक्टर ने चुनाव में BJP के लिए किया था काम-रिपोर्ट

नई दिल्ली। अमेरिकी अखबार द वॉल स्‍ट्रीट जर्नल (WSJ) की रिपोर्ट में अनखी दास का जिक्र करते हुए दावा किया गया था कि फेसबुक ने बीजेपी नेताओं की ‘हेट स्‍पीच’ वाली पोस्‍ट्स के खिलाफ ऐक्‍शन लेने में ‘जान-बूझकर’ कोताही बरती। हालांकि, एक मीडिया रिपोर्ट बताती है कि दास से पहले जो शख्स इस पद पर था, उसका भी बीजेपी से संबंध रहा है और उसने 2014 के लोकसभा चुनावों के समय पार्टी-समर्थक एक वेबसाइट चलाई थी।

टाइम मैगजीन की रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई 2019 में फेसबुक के भारत और साउथ एशिया में पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर शिवनाथ ठकराल थे। उस समय हेट स्पीच पोस्ट्स पर नजर रखने वाली संस्था ‘आवाज’ ने 180 ऐसी पोस्ट के बारे में फेसबुक को बताया था, जो उनकी पॉलिसी का उल्लंघन करते थे। इन पोस्ट में से एक असम से बीजेपी नेता शिलादित्य देव का नाम था। इसमें देव ने एक मुस्लिम शख्स के एक लड़की के साथ बलात्कार करने की खबर को ‘हेट स्पीच’ के साथ शेयर किया था।

टाइम की रिपोर्ट का कहना है कि फेसबुक ने ये पोस्ट एक साल तक नहीं हटाई। जब 21 अगस्त को टाइम ने फेसबुक से इस बारे में जवाब मांगा तो कंपनी ने कहा ने कहा, ‘जब ‘आवाज’ ने इसके बारे में बताया था तो इस पोस्ट को देखा गया था। हमारे रिकॉर्ड बताते हैं कि हमने इसे हेट स्पीच उल्लंघन के मामले में रखा था। शुरुआती रिव्यू के बाद हम इसे नहीं हटा पाए, जो कि हमारी गलती थी।’

टाइम की रिपोर्ट का कहना है कि इस पूरे प्रकरण के समय पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर शिवनाथ ठकराल थे और उनका एक काम ‘भारतीय सरकार के लिए लॉबीइंग करना भी था।’

टाइम को फेसबुक के पूर्व कर्मचरियों ने बताया कि शिवनाथ ठकराल उन बातचीतों में भी शामिल होते थे, जिनमें ये तय किया जाता था कि नेताओं के ‘हेट स्पीच’ टैग किए गए पोस्ट पर क्या एक्शन लेना है। रिपोर्ट के मुताबिक, ठकराल ने 2014 लोकसभा चुनावों के समय बीजेपी के प्रचार में मदद की थी।

शिवनाथ ठकराल के फेसबुक लाइक्स में ‘I Support Narendra Modi’ नाम का पेज भी है। टाइम की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व फेसबुक कर्मचारियों का मानना है कि ठकराल को 2017 में हायर करने के पीछे मुख्य कारण उनके बीजेपी से संबंध होना है।

लोकसभा चुनाव से पहले 2013 में ठकराल ने बीजेपी-समर्थक वेबसाइट ‘मेरा भरोसा’ और फेसबुक पेज चलाया था। 2014 के शुरुआत में वेबसाइट का नाम ‘मोदी भरोसा’ कर दिया गया था। फेसबुक ने भी शिवनाथ ठकराल के इस वेबसाइट के लिए काम करने की बात मानी है।

अब ठकराल को फेसबुक ने और बड़ी जिम्मेदारी दी है। मार्च 2020 में शिवनाथ ठकराल को प्रमोट कर WhatsApp का इंडिया पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर बना दिया गया था।

न्यूज़ डेस्क,

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button