NEWSअर्थ-जगत

खत्म हुई विकास की संभावना – आरबीआई

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक,आरबीआई ने कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था में विकास की जो संभावना देखी जा रही थी वह कोरोना वायरस की वजह से खत्म हो गई है। साथ ही केंद्रीय बैंक ने माना है कि कोरोना वायरस की महामारी का असर देश के भविष्‍य पर काली छाया की तरह मंडराता रहेगा और लॉकडाउन का असर सीधे तौर पर देश की आर्थिक गतिविधियों पर पड़ेगा। गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट में आरबीआई ने कहा है कि कोविड-19 की महामारी के कारण वैश्विक उत्‍पादन, सप्‍लाई, व्‍यापार और पर्यटन पर विपरीत असर पड़ेगा।

आरबीआई ने अपनी मौद्रिक नीति रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले से ही मंदी के दौर से गुजर रही अर्थव्‍यवस्‍था पर इसका और असर पड़ेगा। आरबीआई ने कहा है कि कोरोनो वायरस प्रकोप ने देश की अर्थव्‍यवस्‍था में वापसी की संभावनाओं को बुरी तरह से प्रभावित किया है। इसमें कहा गया है कि वायरस का संक्रमण फैलने से पहले 2020-21 को विकास के नजरिए से देखा जा रहा था लेकिन इस महामारी ने धारणा को बदल दिया है।

रिजर्व बैंक ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण लागू किया गया लॉकडाउन और वैश्विक गतिविधियों में आई सुस्‍ती निश्चित रूप से देश की आर्थिक विकास दर पर भारी पड़ेगी। आरबीआई ने कहा कि कोरोनो वायरस का प्रकोप मुद्रास्फीति पर असर डालेगा। आपूर्ति की बाधा के चलते खाने पीने की चीजों की कीमतों में गिरावट आ सकती है जबकि गैर खाद्य पदार्थों की कीमतें बढ़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Adv.

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close