NEWS

देश से गद्दारी करने वाले परिवार की काली करतूत,पढ़ेंगे तो रह जाएंगे दंग !

मध्यप्रदेश के रीवा का रहने वाला जवान देश का गद्दार निकलेगा यह शायद किसी ने सोंचा हो। यह किसी को यकीन ही नहीं हो रहा कि देश की रक्षा की शपथ लेने वाला जवान,रिटायर हो कर देश के साथ गद्दारी कर सकता है। लेकिन सेंट्रल ऑर्डिनेंस डिपो (COD),जबलपुर में काम करने वाला जवान रिजेक्टेड एके-47 राइफल्स चोरी मामले में पकड़ा गया,तो सभी दंग रह गए।

देश से गद्दारी करने में वह अकेला नहीं, बल्कि परिवार के साथ शामिल था।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक रीवा के छोटे से गांव में रहने वाला जबलपुर ऑर्डिनेंस फैक्टरी के रिटायर आर्मरर पुरुषोत्तम लाल रजक ने चंद पैसों के लालच में सेना के हथियारों को नक्सलियों और बदमाशों को बेच कर देश के साथ गद्दारी करेगा। देश से इस गद्दारी में वह अकेला नहीं रहा, बल्कि परिवार के साथ शामिल था। अब सभी जेल की काल कोठारी में हैं। 

पड़ोसियों को पुलिस पहुंची, तब वे उसकी करतूत का पता चला।

पुरुषोत्तम लाल रजक का पंचशील नगर स्थित घर तीन साल से बंद पड़ा है। वह पड़ोसियों से कोई संबंध रखता ही नहीं था लिहाजा पड़ोसियों को भी उसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं। तीन साल पहले जब पुलिस पहुंची, तब वे उसकी करतूत का पता चला था। 

police
05 सितंबर 2018 को तत्कालीन एसपी अमित सिंह ने इस हाइ प्रोफाइल मामले का खुलासा करते हुए। ( फाइल फोटो)/credit: bhasker.com

लग्जरियस जीवन शैली का आदि बन चुका था गद्दार

बताया जाता है कि,आरोपी ने हथियार बेच कर अकूत संपत्ति बनाई। जांच में खुलासा हुआ कि वह महंगी शराब पार्टियों में शामिल होता था। उसके पहनावे और हाई लाइफस्टाइल को देखकर लोग दंग थे। अब देश की सबसे बड़ी सुरक्षा एजेंसी, एनआईए उसके करतूतों को चार्जशीट के माध्यम से पटना स्पेशल कोर्ट में पेश कर चुकी है।

कहा जाता है कि पुरुषोत्तम लाल रजक, मुंगेर के हथियार तस्करों, इमरान व शमशेर को एक एके-47 पांच लाख रुपए में बेचता था। इसमें से एक लाख रुपए वह सुरेश ठाकुर को देता था। उसकी लग्जरियस जीवन शैली का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि जब वह पकड़ा गया, तो 16 हजार रुपए कीमत का जूता पहने था। वह शहर के बड़े बार में बैठकर अंग्रेजी शराब पीता था। वह कई बार विदेश तक घूम आया है।

आलिशान बंगले मे करता था  हथियार असेंबल

उसने जबलपुर के आलिशान बंगले को हथियार असेंबल करने की फैक्टरी में बदल दिया था। वह सीओडी से सुरेश ठाकुर द्वारा चुरा कर लाए गए एके-47 पार्ट्स को अपने घर में ही असेम्बल करता था। इसके लिए उसने एक कमरे को कारखाने के रूप में तब्दील कर दिया था। इस कमरे में किसी को फटकने तक नहीं देता था। उसके दो मंजिला मकान के सारे कमरे में एसी और चारों ओर सीसीटीवी लगा रखा है।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button