NEWSशिक्षा

मध्यप्रदेश में नई शिक्षा नीति 2020 के आदेश निरस्त,जानिए क्यों ?

मध्यप्रदेश में नई शिक्षा नीति 2020 के आदेश को निरस्त कर दिया है।दरअसल  प्रदेश में नई शिक्षा नीति 2020 को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग और माध्यमिक शिक्षा मंडल आमने-सामने हो गए हैं। इसी का नतीजा है कि मंडल के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) द्वारा जारी नई शिक्षा नीति के आदेश को प्रमुख सचिव (पीएस) स्कूल शिक्षा विभाग ने निरस्त कर दिया। आपको बता दें की सोमवार से शुरू होने वाली ऑनलाइन क्लास  शुरू होने वाली थी,जो नहीं हो सकीं।

क्या है झगड़े की असल वजह

मंडल ने 25 शिक्षकों से विचार-विमर्श और स्कूल शिक्षा मंत्री की सहमति के बाद नई शिक्षा नीति जारी कर दी थी। इसमें स्कूल शिक्षा विभाग को शामिल नहीं किया था। अधिकारियों का कहना है कि मंडल का काम परीक्षा लेना और उसके संबंध में नीति निर्धारण करना है। शिक्षा नीति बनाना उनका काम नहीं है। इसी के कारण पीएस स्कूल शिक्षा विभाग ने इस आदेश को निरस्त कर दिया। हालांकि, नई शिक्षा नीति के आने के बाद से ही इस पर विवाद की बातें सामने आ गई थीं।

नई शिक्षा नीति 2020 में नया क्या ?

  • ऑनलाइन सत्र 7 सितंबर से शुरू करना था।
  • क्लास सुबह 7 बजे से 10 बजे तक 3 घंटे की।
  • कक्षाएं दूरदर्शन और मोबाइल एप के जरिए।
  • होम असाइनमेंट पूरा करना अनिवार्य था।
  • माशिमं एप पर छात्रों, शिक्षकों और संस्थाओं को पंजीयन कराना अनिवार्य।
  • सभी पाठ्य सामग्री ऑन लाइन माशिमं के पोर्टल पर उपलब्ध।

मौजूदा व्यवस्था क्या है ?

  • स्कूल शिक्षा विभाग सत्र से लेकर बच्चों के पाठ्यक्रम को तय करता है।
  • स्कूल संचालन और छात्रों की पढ़ाई संबंधी निर्णय स्कूल शिक्षा विभाग के पास।
  • कोरोना के कारण स्कूलों को 31 सितंबर तक बंद रखा गया है।
  • हमारा घर हमारा विद्यालय नाम से अभियान चलाया जा रहा है।

Adv.

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close