NEWS

ऐतिहासिक डोहेला महोत्सव देखने उमड़ा जनसैलाब

सौरभ जैन

सागर(बांदरी)।।तीन दिवसीय डोहेला महोत्सव के तीसरे दिन मंत्री प्रतिनिधि लखन सिंह ठाकुर,मंत्री भूपेंद्र सिंह के पुत्र अभिराज सिंह ने दीप प्रज्वलित कर मां सरस्वती की पूजा अर्चना की। मुंबई से आये कलाकार सचेत एवं परंपरा का मुख्य अतिथि ने पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया सभी क्षेत्रवासियो को मंकर संक्राति एवं डोहेला महोत्सव की शुभकामनाए दी। सचेत एवं परंपरा ने धमाकेदार नये-पुराने गीतो से लोगो का मन मोह लिया एक के बाद एक गीत पर हजारो की संख्या में आये लोग अपनी अपनी जगह पर थिरकते नजर आये।लोगों ने नगरीय प्रशासन मंत्री व क्षेत्रीय विधायक भूपेंद्र सिंह का जनता ने धन्यवाद दिया।

मकर संक्रांति : कैसे होगा मोक्ष की प्राप्ति

मकर संक्रांति

मकर संक्रांति का पर्व शास्त्रो के अनुसार दक्षिणायण को देवताओ की रात्रि एवं उत्तरायण को देवताओ का दिन होता है इसलिए इस दिन जब,तब,त्याग,स्नान,दान, श्राद्ध,तर्पण आदि धार्मिक क्रियाकलापो का विषेष महत्व है। ऐसी धारणा है इस लिए दान करने से दान का सौ गुना लाभ प्राप्त होता है।इस दिन शुद्व घी एवं कंबल दान से मोक्ष की प्राप्ति होती है।


मकर संक्राति से अग्नि तत्व की शुरू आत होती है और कर्क संक्राति से जल तत्व की। इस समय सूर्य उत्तरायण होता है अतः दान करने का विषेष महत्व है।


डोहेला महोत्सव एक दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरो में लिखा दिखाई देगा।

लोगो ने बताया कि खुरई में ऐसे आयोजन होने से लोगो को मनोरंजन के साथ सभ्यता और संस्कृति की शिक्षा मिलती है मेरे देश के सभ्यता और संस्कृति का अनूठा उदाहरण होते है जो परंपराएं विलुप्त हो रही है उन्हे मंत्री भूपेन्द्र सिंह द्वारा संरक्षित कर क्षेत्र में एक नई शुरूआत महोत्सब करने से आने वाली पीड़िया इस सभ्यता को याद रखेगी और डोहेला महोत्सव भी जिस तरह प्रदेश और देश में अपनी पहचान बना रहा है एक दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरो में दिखाई देगा।

 People see the historic Dohela festival
फोटो : सौरभ जैन/उर्जांचल टाईगर

आकर्षण का मुख्य केंद्र डोहेला मंदिर रहा 

मेले में विभिन्न प्रकार की दुकानें सजाई गईं है प्रशासन द्वारा सभी दुकानदारो को अलग अलग स्थानो पर व्यवस्थाएं की गई है। झूलों सहित अन्य मनोरंजक इवेंट भी रखे गए। डोहेला मंदिर को घूमने के लिए भी लोगों की भीड़ रही।

मेले मे दिखा चाकचौबन्द व्यवस्था

मध्यप्रदेश सहित अन्य प्रदेशो से आए लोग मेले का आनंद लेते नजर आए। पूरे मेले में व्यवस्थाएं चर्चा का विषय बनी रही जिसमें पुरानी सब्जी मंडी में दुकानें, महामंगला महाकाली टीनशैड में गरम कपड़े व मनिहारी आयटम, नपा के पीछे बच्चो के लिए मनोरंजन का खेल, झूला, नाव आदि दुकानें लगी रही। नगर पालिका व विद्युत विभाग की व्यवस्थाएं सफल होती दिखाई दी। वहीं पार्किंग व्यवस्था ठीक रही पूर्व दिशा से आने वाले वाहन दुबे कॉलोनी में, पश्चिम की ओर से आने वाले वाहन, ललिता शास्त्री- छोटी तलैया, उत्तर की ओर से आने वाले वाहन एक्सीलेंस स्कूल, दक्षिण की ओर से आने वाले वाहन मेरा खुरई तिराहा के पास सभी दो पहिया चार पहिया वाहन खड़े रहे। पुलिस ने भी अपनी ड्यूटी में कोई कसर नहीं छोड़ी। हर कदम पर पुलिस कर्मी देखा गया ताकि कोई झगड़ा की स्थिति न बन जाए। साथ ही लोगो को डोहेला मेला खूब भाया।  

Back to top button
%d bloggers like this:
Enable Notifications    OK No thanks