NEWSबोल के लब आज़ाद

Netaji Subhash Chandra Bose : क्यों नेताजी का जीवन और मृत्यु आज तक बना हुआ है रहस्य

“तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा..!” का नारा बुलंद करने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती (Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti) आज 23 जनवरी 2021 को मनाई जाएगी। सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक में हुआ था और उनका निधन 18 अगस्त, 1945 ताइवान में हुआ था। उन्होंने देश की आजादी के लिए आजाद हिंद फौज का गठन किया था। 


18 अगस्त, 1945 को उनका जापानी विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।यह दुर्घटना जापान अधिकृत फोर्मोसा (वर्तमान ताइवान) में हुई थी।  उस हादसे में नेताजी बच गए थे या मारे गए थे।लेकिन 18 अगस्त, 1945 के बाद से सुभाष चंद्र बोस का जीवन और मृत्यु आज तक अनसुलझा रहस्य बना हुआ है।


आजदी  के बाद भारत सरकार ने जाँच के लिए तीन बार आयोग गठित किये, जिनमें से दो ने विमान दुर्घटना में मौत की पुष्टि की लेकिन तीसरे के अनुसार बोस ने अपने आप को नकली मौत दी। हालांकि यह रिपोर्ट को सरकार ने बिना किसी कारण के अस्वीकृत कर दी।

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti 2021
Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti 2021

Netaji Subhas Chandra Bose Jayanti 2021:सुभाष चंद्र बोस जयंती 2021 कोट्स

  •  ”तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा”
  • ”मुझे यह नहीं मालूम कि स्वतंत्रता के इस युद्ध में हम में से कौन -कौन जीवित बचेंगे, परंतु मैं यह जानता हूं कि अंत में विजय हमारी ही होगी”
  • ”ये हमारा कर्तव्य है कि हम अपनी स्वतंत्रता का मोल अपने खून से चुकाएं। हमें अपने बलिदान और परिश्रम से जो आज़ादी मिले, हमारे अंदर उसकी रक्षा करने की ताकत होनी चाहिए।”
  • ”याद रखिए सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है”
  • ”जिस व्यक्ति के अंदर ‘सनक’ नहीं होती वो कभी महान नहीं बन सकता। लेकिन उसके अंदर, इसके आलावा भी कुछ और होना चाहिए।”

 

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
Enable Notifications    OK No thanks