सिंगरौली न्यूज

पुलिस के प्रेस नोट को लेकर नेता जी ने कोतवाल को दी नसीहत,कहा आगे से रखें ध्यान ।

नेता जी व उनके 7 सहयोगियों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

सिंगरौली।। कानून की नजर में सब बराबर हैं अमीर गरीब आम आदमी या कोई नेता । सभी को नियमों का पालन करना है और करना भी चाहिए । परंतु अक्सर ये देखने मे आया है कि कुछ लोग अपने आपको अलग समझने की भूल कर जाते है नियमों को तोड़ते हुए खुद और दुसरो के लिए मुश्किल पैदा करते हैं कई बार तो जानमाल का भी भारी भरकम नुकसान उठाना पड़ जाता है । पर नेता आखिर नेता ठहरें भला नियम क्या कर सकता है इनका। ऐसा ही कुछ वाक्या मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में देखने को मिला जहाँ पुलिस ने नेता समेत उनके सहयोगियों पर मामला दर्ज कर लिया है।

कोतवाली पुलिस ने रोका और जमकर फटकार लगाई।

सिंगरौली जिले में लगातार तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में जहाँ जिले में कोहराम मचा रखा है वही दूसरी तरफ लोग अब भी अपनी हरकतों से बाज नही आ रहे हैं लगातार नियमों की अनदेखी से ही मामलों में बढ़ोतरी हो रही है । आज मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के द्वारा रैली का आयोजन किया गया था जब कि पहले ही जिला प्रशासन के द्वारा भीड़ जमा होने को लेकर मनाही की जा चुकी है जिले में धारा 144 भी लागू है और ऐसे में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के द्वारा रैली का आयोजन किया गया था जिसमे की दर्जन भर लोग कलेक्ट्रेट की तरफ झंडों के साथ ज्ञापन सौंपने जा रहे थे जिन्हें पहले ही कोतवाली पुलिस ने रोका और जमकर फटकार लगाई ।

पुलिस ने मामला किया दर्ज

संबंधित मामले में हरकत में आई कोतवाली पुलिस ने आनन फानन में मामला दर्ज कर ही लिया , आपको बताते चलें कि संबंधित मामले में पुलिस ने 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है ।

पुलिस ने नेता जी सही उनके 7 समर्थकों पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है जिसमे की अपराध क्रमांक 646/2020 धारा 269 , 270 , 188 भ वा दी 3,4 महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की है।

 

प्रेस नोट को लेकर नेता जी ने कोतवाल को दी नसीहत

पुलिस की जारी प्रेस विज्ञप्ति पर पार्टी के नाम पर बखेड़ा खड़ा हो गया जिस पर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के नेता ने जारी किया बयान और कहा

“उपरोक्त आंदोलन मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में किया गया था कोतवाली बैढन द्वारा कम्युनिस्ट पार्टी का नाम लिखा जाना गलत है भारतीय कैम्युनिस्ट पार्टी के द्वारा उसके पदाधिकारियों के द्वारा कोई आंदोलन नहीं किया गया आगे से किसी भी प्रकरण या प्रेस नोट जारी करने से पहले कोतवाली टी.आई. को नाम का ध्यान रखना चाहिए”। कामरेड संजय नामदेव भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी राज्य परिषद सदस्य मध्य प्रदेश

 

Adv.

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close