NEWSसिंगरौली न्यूज

प्रेमिका से बिछड़ने के डर से अपने ही दोस्त की कर दी हत्या।

सिंगरौली। लंघाडोल थाना प्रभारी उदयचंद करिहार ने अंधी हत्या का खुलासा करते हुये बताया की आरोपी ने प्यार मे अपने ही प्रेमिका के भाई की हत्या कर दिया था।

फरियादी उमेन्द्र सिंह पिता स्व. मोहन सिंह गोड़ ने 18 सितम्बर को थाने मे आकार सूचना दिया था की उसका बेटा तिलकराज सिंह गोड़ घर के सामने रोड़ पर मृत अवस्था मे पड़ा हुआ है। जिसपर पुलिस ने धारा 174 जा.फ़ौ. कायम कर घटना स्थल पर पहुच कर शव को अपने कब्जे मे लेकर शव का पंचनामा के लिए पी एम हाउस भेज दिया एंव जांच मे जुट गई,जांच मे जुटी पुलिस को पी. एम. रिपोर्ट,मृतक के परिजनो एंव संदेही के आधार पर पता चला की 17 तारिक को मृतक तिलकराज सिंहई,उमेश साहु ,व्यापारी साहू तीनों एक जगह बैठकर रात्री मे शराब पीने के बाद आरोपी व्यापारी साहू अपनी कार को तिलकराज सिंह गोड़ के घर के सामने खड़ा करके कार के अंदर सो गया उसके बाद तिलकराज अपने साथी उमेश साहू के साथ भोजन करने रामलल्लू साह के यहां चले गये। भोजन करने के बाद दोनों पुनः कार में बैठ कर अपने घर के लिए रवाना हो गये,व्यापारी साहू ने उमेश साहू को घर छोड़ने के बाद रात्री 2:30 बजे जब सुनसान रास्ता आया तो आरोपी व्यापारी साहू ने तिलकराज सिंह गोड़ को कार से बाहर उतार कर उसके ऊपर कार को चढ़ा दिया जिससे मौके पर ही तिलकराज सिंह की दर्दनाक मौत हो गई थी।

प्रेमिका से पिछड़ने के डर से प्रेमिका की भाई की कर दी हत्या:- जब लंघाडोल पुलिस ने आरोपी व्यापारी साहू को अभिरक्षा में लेकर सख्ती से पूछताछ किया तो आरोपी ने बताया कि वह मृतक तिलकराज सिंह के यहां पिछले 4,5 महीने से आ जा रहा था इसी दौरान उसको तिलकराज के बहन से प्यार हो गया वह तिलकराज के बहन से दोस्ती करना चाहता था जब यह बात मृतक तिलकराज को पता चला तो उसने व्यापारी साहू को अपने घर आने से मना कर दिया एंव उसके साथ गाली गलौच किया जिससे व्यापारी साहू क्रोध में आकर तिलकराज की हत्या कर दी।

लंघाडोल पुलिस ने आरोपी व्यापारी साहू के विरुद्ध धारा 302 भादवि 3(2)(V) एस सी/एस टी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया।

Adv.

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close