बिज़नेस न्यूज़

NTPC-Simhadri Visakhapatnam हाइड्रोजन से हरित ऊर्जा उत्पन्न करेगा।

नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (National Thermal Power Corporation Limited (NTPC ) विशाखापत्तनम में सिम्हाद्री थर्मल पावर प्लांट हाइड्रोजन से बिजली पैदा करने के लिए एक परियोजना विकसित कर रहा है। यह 2070 तक शुद्ध-शून्य कार्बन उत्सर्जन प्राप्त करने के COP-26 लक्ष्य के अनुरूप किया जा रहा है।

मीडिया से बात करते हुए, NTPC के मुख्य महाप्रबंधक दिवाकर कौशिक ने कहा कि इसका उद्देश्य दिन के दौरान तैरते सौर ऊर्जा संयंत्र (floating solar power plant) से हरीत हाइड्रोजन एकत्र करना  और रात के दौरान इसे बिजली में परिवर्तित करना है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह देश में अपनी तरह का पहला पावर प्लांट होगा। कहा जाता है कि एक डेमो प्रोजेक्ट का विकास किया जा रहा है, जो 50kW बिजली पैदा करेगा।

महाप्रबंधक ने यह भी कहा कि एनटीपीसी-सिम्हाद्री (NTPC-Simhadri) विशाखापत्तनम में इस हाइड्रोजन पावर प्रोजेक्ट को विकसित करने के लिए ब्लूम एनर्जी (Bloom Energy) नाम की एक यूएस-आधारित कंपनी के सहयोग से लिया जा रहा है। यह परियोजना देश भर के दूरदराज के क्षेत्रों में बिजली उपलब्ध कराएगा, जहां बिजली ग्रिड उपलब्ध नहीं हैं।

एनटीपीसी-सिम्हाद्री (NTPC-Simhadri) ने डिसेलिनेटेड (desalinated) समुद्री जल से पैक्ड पेयजल के उत्पादन के लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी)ndian Railway Catering and Tourism Corporation (IRCTC) के साथ गठजोड़ किया है। इस उद्देश्य के लिए जो प्लांट लगाया जा रहा है, उससे प्रतिदिन 120 टन पेयजल का उत्पादन होने की बात कही जा रही है।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
viral video