NEWSराजनीति

झूठ बोलने के लिए चौहान और सिंधिया को जनता से मांगे माफी।-कमलनाथ 

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को आरोप लगाया है कि उनके नेतृत्व वाली प्रदेश की पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों की फसल ऋण माफी पर पहले दिन से ही प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए ज्योतिरदित्य सिंधिया  झूठ बोलते रहे हैं।


कमलनाथ ने जारी अपने एक बयान में कहा,

‘‘इस झूठ की राजनीति का पर्दाफाश स्वयं शिवराज सरकार ने कल (सोमवार को) विधानसभा में कर दिया है और स्वीकार किया कि प्रदेश में प्रथम और द्वितीय चरण में कांग्रेस की सरकार ने 51 जिलों में 26.95 लाख किसानों का 11,600 करोड़ रुपये से अधिक का ऋण माफ किया है।”

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश की जनता से सफेद झूठ बोलने और गुमराह करने की घृणित राजनीति के लिए चौहान और सिंधिया को तत्काल प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।”

उन्होंने कहा कि सदन के पटल पर जो सच्चाई भाजपा सरकार ने स्वीकार की है, इससे चौहान व भाजपा की झूठ की राजनीति का पर्दाफाश हो चुका है और मेरे द्वारा पहले दिन से ही किसान ऋण माफी की जो संख्या और सूची दी जा रही थी, वह अंततः सच साबित हुई है। 

कमलनाथ ने कहा, ‘‘मैं शुरू से ही यह कहता आ रहा हूं कि भाजपा चाहे जितना झूठ बोल ले लेकिन जो सच्चाई है, वह इस प्रदेश की जनता जानती है और हमारे किसान भाई इसके गवाह हैं। इसी सच्चाई को सदन में भाजपा सरकार के कृषि मंत्री ने लिखित में स्वीकार भी किया है। ”


यहां उल्लेखनीय है की विधानसभा सत्र के दौरान कृषि मंत्री कमल पटेल ने लिखित में जवाब देते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार के दौरान 51 जिलों में दो चरणों में किसान कर्जमाफी की गई थी। पहले चरण की कर्जमाफी 27 दिसंबर 2019, जबकि इसके बाद दूसरे चरण की कर्जमाफी की गई थी।

Adv.

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close