राजनीति

मध्यप्रदेश : भाजपा नेता यूथ कांग्रेस के महासचिव पद के लिए चुने गए।

मध्य प्रदेश कांग्रेस को उस समय असमंजस की स्थिति का सामना करना पड़ा, जब संगठन के चुनाव में भाजपा नेता ने जीत दर्ज कर ली। इस घटना के बाद जहां भाजपा नेताओं ने कांग्रेस पर तंज कसना शुरू कर दिया है,वहीं कांग्रेस ने इसे भाजपा की एक एक सस्ती लोकप्रियता का स्टंट बता रहें हैं। 

मध्य प्रदेश में इस महीने हुए संगठनात्मक चुनाव में कांग्रेस पार्टी के यूथ विंग के एक जिला इकाई के महासचिव के रूप में हर्षित सिंघई को जीत मिली। यूथ कांग्रेस के नेताओं ने इसे एक सस्ती लोकप्रियता का स्टंट बताते हुए भाजपा कार्यकर्ता को इस पद के लिए अपने चुनाव के लिए जिम्मेदार ठहराया है। भाजपा नेताओं ने भी कांग्रेस पर पलटवार करते हुए उनकी पार्टी में चुनाव की प्रक्रिया पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं।


यह भी पढ़ें : घर में मिनी बार रखने वाला बिजली कंपनी का रिश्वतखोर उप महाप्रबंधक कैसे हुआ रंगेहाथ गिरफ़्तार ?


हर्षित सिंघई को ज्योतिरादित्य सिंधिया का समर्थक माना जाता है। इस वजह से उन्होंने बाद में भाजपा का दामन थाम लिया था। बीजेपी में शामिल होने के नौ महीने के बाद वह जबलपुर नॉर्थ विधानसभा सीट से राज्य यूथ कांग्रेस के महासचिव पद के लिए चुने गए। एमपी यूथ कांग्रेस में विभिन्न पदों के लिए चुनाव 10-12 दिसंबर के बीच कराया गया था। नतीजों का ऐलान 18 दिसंबर को हुआ है। 

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button
Enable Notifications    OK No thanks