सरिया-सीमेंट और ईट मिल रहा सस्ते दामों मे

Saria-Cement Price: मानसून की वापसी शुरू होते ही देश के अलग-अलग हिस्सों में बारिश कम होने लगी है। निर्माण कार्य तेज होने लगा है। इससे पहले मानसून की बारिश और बाढ़ की स्थिति के कारण निर्माण कार्य ठप हो गया था। लेकिन अब इस क्षेत्र में गतिविधियां सुधरने लगी हैं, जिसका सीधा असर सीमेंट और साड़ी जैसी सामग्री की कीमतों पर पड़ रहा है। पिछले 02 हफ्तों में कई शहरों में बार की कीमतें बढ़ी हैं। लेकिन यह अभी भी 2-3 महीने पहले के मुकाबले कम कीमत पर उपलब्ध है। अगर आप भी घर बनाना चाहते हैं तो अभी देर न करें, नहीं तो रीबर-सीमेंट की कीमत आपके खर्चे को बढ़ा सकती है।

सरिया-सीमेंट और ईट के दाम मे आई भारी गिरावट

निर्यात शुल्क में वृद्धि का प्रभाव

हम आपको सूचित करते हैं कि मार्च-अप्रैल के दौरान बार की कीमतें रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गईं। इसके बाद सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने का फैसला किया। इससे घरेलू बाजार में स्टील की कीमतों में भारी गिरावट आई है। बार कीमतों में गिरावट का यह भी मुख्य कारण है। दूसरी ओर, मानसून के कारण देश के कई हिस्सों में भारी वर्षा के कारण निर्माण गतिविधि कम होने से मांग प्रभावित हुई है।

उसके बाद बार की कीमत में तेज गिरावट आई, लेकिन अब कीमत फिर से बढ़ने लगी है। पिछले दो हफ्तों में कई शहरों में बार 1000 रुपये प्रति टन तक बढ़े हैं। हालांकि, यह अभी भी जुलाई के मुकाबले 6000 रुपये प्रति टन कम मिल रहा है।

सरिया-सीमेंट और ईट के दाम मे आई भारी गिरावट

अभी सरिया इतनी सस्ते में मिल रही है

इस्पात मंत्रालय के आंकड़ों पर नजर डालें तो अप्रैल की शुरुआत में टीएमटी बार की खुदरा कीमत करीब 75,000 रुपये प्रति टन थी, जो 15 जून को घटकर करीब 65,000 रुपये प्रति टन हो गई। खुदरा बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, बार की कीमत अप्रैल में 82,000 रुपये प्रति टन तक पहुंच गई थी, जो अब 50,000 रुपये से घटकर 55,000 रुपये हो गई है।

इसका मतलब है कि बार की कीमतें अप्रैल के रिकॉर्ड उच्च स्तर से लगभग 30,000 रुपये प्रति टन कम हैं। न केवल स्थानीय बल्कि ब्रांडेड बार की कीमतों में भी पिछले कुछ महीनों में भारी गिरावट आई है। मार्च 2022 में ब्रांडेड बार का रेट 01 लाख रुपये प्रति टन के करीब पहुंच गया, जो अब घटकर 80-85 हजार रुपये प्रति टन हो गया है।

जानिए आपके शहर में बार के लिए नवीनतम दरें क्या हैं

भारत के प्रमुख शहरों में, बार दरें घटी हैं और अलग-अलग डिग्री तक बढ़ी हैं। आयरनमार्ट वेबसाइट नाइयों के मूल्य आंदोलन की निगरानी करती है और तदनुसार कीमतों को अपडेट करती है। देश के प्रमुख शहरों की बात करें तो उत्तर प्रदेश के कानपुर में पिछले ढाई महीने में बार दरों में सबसे तेज गिरावट देखने को मिली है। पिछले दो महीनों में कानपुर में बार की कीमतों में 5,800 रुपये प्रति टन की गिरावट आई है।

हालांकि, पिछले दो सप्ताह में कानपुर में इसकी कीमत में 1000 रुपये का इजाफा हुआ है। फिलहाल देश में सबसे सस्ता बार पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर और कोलकाता में उपलब्ध है, जहां इसकी नवीनतम दर 50,000 रुपये प्रति टन है। प्रमुख शहरों में बार की कीमतों की जाँच करें… प्रति टन सभी कीमतें रु। इन कीमतों पर भी अलग से 18 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगेगा।

Viral Video