सिंगरौली महोत्सव : कवि सम्मेलन से ज्यादा चर्चा का विषय खाली कुर्सियाँ रही। 

मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के स्थापना दिवस 24 मई मंगलवार को मनाई गई। पना दिवस 24 मई मंगलवार को सिंगरौली सांस्कृतिक महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन राजमाता चुन कुमारी स्टेडियम में हुआ।

कवि सम्मेलन से ज्यादा चर्चा का विषय खाली कुर्सियाँ रही।

इस अवसर कवियों ने जहां हास्य रस की कविताएं सुनाकर दर्शकों को गुदगुदाया, वहीं वीर रस की कविताओं ने जोश भर दिया। मशहूर कवियों में पद्यश्री सुरेंद्र शर्मा, अरुण जैमिनी ने दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। जिले के स्थानीय कवियों के भी बोलों में ओज दिखा और हास्य भी।लेकिन चर्चा का विषय खाली कुर्सियाँ रही। 

बेरोजगारोऔर प्रदूषण, यह भी एक बड़ा सवाल है।

बुद्धिजीवियों की माने तो दिखावे के कार्यक्रम से दूरी नगरवासियों का दुरी बनाने के कई कारण हो सकता है। लेकिन जिला बनने के एक दशक बाद भी बेरोजगारोऔर प्रदूषण पर जनप्रतिनिधियों का मौन रहना दुखद है।

इस कार्यक्रम को लोग नगरीय चुनाव से जोड़कर भी देख रहें हैं। ऐसे जनता से जुड़े मुद्दे को गंभीरता से लेने और उनके मूलभूत समस्याओं को जनप्रतिनिधियों द्वारा गंभीरता से लेने के बजाय दिखावे को गंभीरता से लेना को आम जनता क्या समझती है?यह भी एक बड़ा सवाल है।