Singrauli News : पत्रकार से रिश्वत लेते सिंगरौली के पटवारी गिरफ्तार

सिंगरौली।। लोकायुक्त पुलिस रीवा ने पटवारी को जिले में भ्रष्टाचार के आरोप में एक बार फिर गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें कि सिंगरौली जिले में पिछले 24 घंटे में यह दूसरी घटना है। लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि सरई तहसील (सिंगरौली) में पटवारी के पद पर तैनात अनुभव त्रिपाठी ने पीड़ित जितेंद्र कुमार तिवारी से ₹56000 रिश्वत की मांग की, जहां पटवारी को आज 28 मार्च को ₹15000 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया।

वही कल 27 मार्च को वन विभाग के एक रेंजर को भी लोकायुक्त पुलिस ने ₹20,000 रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था, 24 घंटे में लोकायुक्त पुलिस द्वारा सिंगरौली जिले में यह सबसे बड़ा कदम था।

सिंगरौली – लोकायुक्त रीवा दल ने सोमवार 28 मार्च को दोपहर करीब 12 बजे जिला मुख्यालय से करीब 70 किलोमीटर दूर सरई तहसील के पिदरा में पदस्थापित हल्के पटवारी अनुभव त्रिपाठी को 15000 रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया पीपरखंड गांव में।

पटवारी ने बिक्री के लिए जमीन बदलने के लिए 56,000 रुपये की मांग की। जितेंद्र कुमार तिवारी के पिता श्री उमेश कुमार तिवारी ने ग्राम करई तहसील के सरई जिले के सिंगरौली निवासी रीवा लोकायुक्त के पास शिकायत दर्ज कराई थी।

आरोपों की पुष्टि के बाद सोमवार को 15 हजार रुपये की रिश्वत लेकर पटवारी अनुभव त्रिपाठी के पुत्र राजेंद्र कुमार त्रिपाठी को पीपरखंड स्थित पटवारी कार्यालय भेज दिया गया।

घूस के पैसे लेते ही पीछे से ट्रैप अधिकारी निरीक्षक जियाउल हक मौके पर पहुंचे – इंस्पेक्टर जियाउल हक, उप निरीक्षक रितुका शुक्ला और 15 सदस्यों की टीम ने ट्रैप टीम के सदस्यों को पकड़ लिया। पता चला है कि करीब तीन माह पूर्व भूमि परिवर्तन के लिए आवेदन किया गया था। पटवारी ने जमीन सौंपने के लिए याचिकाकर्ता से 60 हजार रुपये की मांग की।

याचिकाकर्ता ने खराब आर्थिक स्थिति का जिक्र किया, जिसके बाद दोनों के बीच 56,000 रुपये का समझौता हुआ। इस संबंध में याचिकाकर्ता ने रीवा लोकायुक्त से शिकायत की है। जांच में आरोप सही पाए जाने पर पटवारी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया।