Singrauli News : भू माफियाओं पर फिर गर्जा प्रशासन का बुलडोजर

मोरवा में 2 भू- माफियाओं के कब्जे से करोड़ों की शासकीय जमीन कराई खाली

सिंगरौली ।। प्रदेश सरकार द्वारा भू माफियाओं के विरुद्ध अभियान के तहत जिला प्रशासन ने आज शुक्रवार को मोरवा क्षेत्र में 2 भू- माफियाओं के विरुद्ध बड़ी कार्यवाही कर करोड़ों रुपए की शासकीय जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया है। इनके द्वारा लंबे समय से शासकीय भूमि पर कब्जा कर अवैध अतिक्रमण किया जा रहा था। जिला प्रशासन ने इन्हें चिन्हित कर नोटिस दिया गया। जिसके बाद आज उनके द्वारा सरकारी जमीन पर किए गए अवैध निर्माण को ध्वस्त कर शासकीय जमीन को खाली कराया गया। बताया जाता है कि 2 अतिक्रमणकारियों द्वारा करीब एक एकड़ 32 डिसमिल की जमीन पर अतिक्रमण किया जा रहा था, जिसका मूल्य एक करोड़ 46 लाख 20 हजार था।

शुक्रवार सुबह ही एसडीएम ऋषि पवार के नेतृत्व में तहसीलदार दिवाकर सिंह, मोरवा निरीक्षक मनीष त्रिपाठी, आर आई भूपेंद्र सिंह, पटवारी गोविंद चौरसिया समेत भारी संख्या में पुलिस बल, नगर निगम व राजस्व अमला पुरानी दूधिचुआ रोड में शासकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए पहुंच गए थे। जिनके द्वारा कई घंटों की मशक्कत के बाद शासकीय जमीन पर किए जा रहे अतिक्रमण को खाली कराया गया।

2 डिसमिल पट्टे की जमीन लेकर करीब सवा एकड़ सरकारी भूमि पर कर लिया था अवैध कब्जा

जिला प्रशासन से मिली जानकारी के बाद यह बात सामने आई कि पुरानी दुधीचूहा रोड पर भू स्वामी स्वर्गीय बलराम चमकेल द्वारा 2 डिसमिल की जमीन खरीदकर वहां निर्माण कराया गया। जिसके बाद उससे सटे एक एकड़ 12 डिसमिल सरकारी जमीनों पर उनके लड़कों द्वारा अवैध अतिक्रमण कर लिया गया था। प्रशासन द्वारा आज कार्रवाई करते हुए तीन भाइयों के पास से एक करोड़ 9 लाख कीमत की ज़मीन खाली कराई गई।

तीनो भाई सशक्त फिर भी कर लिया अवैध कब्जा, अब इन भू माफियाओं पर पुलिस ने कसी नकेल

मोरवा निरीक्षक मनीष त्रिपाठी ने बताया कि शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण करने वाले तीन भाई नरेंद्र चमकेल, जयराम चमकेल एवं विनय चमकेल एनसीएल एवं नगर निगम में कार्यरत हैं। इसके बावजूद उनके द्वारा शासकीय जमीन पर कब्जा कर अवैध अतिक्रमण किया जा रहा था। इस मामले में आज कार्रवाई के बाद तीनों के विरुद्ध धारा 447 एवं 34 के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया गया है।

अतिक्रमणकारी ठेकेदार पर गिरी गाज

नगर निगम द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के लिए बनाए गए आवास के बीचो बीच ठेकेदार संदीप शुक्ला पिता प्रेमचंद्र शुक्ला द्वारा 20 डिसमिल शासकीय भूमि जिसकी कीमत करीब 36 लाख 20 हजार है, इसपर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण कराया जा रहा था। इस बावत नगर निगम द्वारा उसे नोटिस भी दिया गया था, जिसके बाद आज मोरवा में कार्रवाई करने पहुंचे जिला प्रशासन और निगम अमले ने ठेकेदार द्वारा किए गए अवैध निर्माण को ध्वस्त कर उसके विरुद्ध भी धारा 447 के तहत मामला पंजीबद्ध कर लिया है।

आगे भी जारी रहेगी कार्रवाई, कइयों की सांसे अटकी

एसडीएम ऋषि पवार ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा अवैध भू माफियाओं के विरुद्ध आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि अगले माह के पहले सप्ताह में एक बार फिर पुनः मोरवा में भू माफियाओं के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। लगातार जिला प्रशासन द्वारा भू माफियाओं के विरुद्ध की जा रही कार्यवाही से अब कई भू माफियाओं में हड़कंप की स्थिति है। आलम यह है कि जिला प्रशासन की नोटिस को दरकिनार कर अवैध जमीनों पर कब्जे कर रहे यह माफिया अब चिंतित हो चले हैं।