सिंगरौली में 5000 का रिश्वत लेते प्रधान आरक्षक हुआ गिरफ्तार।

सिंगरौली में आज फिर से रीवा की लोकायुक्त टीम ने एक प्रधान आरक्षक को रिश्वत लेते हुये रंगे हाथ पकड़ा है। आपको बता दें की सिंगरौली जिले के बरगवां थाना क्षेत्र पुलिस सहायता केंद्र गोनर्रा में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को आज देवसर न्यायालय परिसर के सामने से रीवा की लोकायुक्त टीम ने 5000 रुपये रिश्वत लेते हुये प्रधान आरक्षक को रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

हेड कांस्टेबल कैसे गिरफ्तार हुआ ?

सिंगरौली के विद्यासागर प्रजापति पिता श्री रामकरण प्रजापति 32 वर्ष से गोनर्रा पुलिस सहायता केंद्र में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका ने मारपीट के मामले को सुलझाने के लिए पहले ही पांच हजार रूपये  ले चुके थे। उसके बाद भी पीड़ित विद्यासागर से प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका पांच हजार की और मांग कर रहे थे।

जिसकी पोड़ी-3 दुधमनिया निवासी विद्यासागर ने लोकायुक्त रीवा से शिकायत की थी कि मारपीट के मामले को समझौता कराने के लिए पुलिस सहायता केंद्र गोनर्रा में पदस्थ प्रधान आरक्षक शिव कुमार और पांच हजार रुपये की रिश्वत मांग कर रहे हैं। जबकि इससे पहले भी वह इस मामले में 5000 रुपये ले चुके हैं। 

शिकायत के पश्चात रीवा की लोकायुक्त टीम ने प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को आज देवसर न्यायालय परिसर के सामने से 5000 रुपये रिश्वत लेते हुये प्रधान आरक्षक को रंगे हाथ गिरफ्तार कर ली है।

शिकायत पर कार्रवाई करने के लिए रीवा की लोकायुक्त टीम के उप-पुलिस अधीक्षक राजेश पाठक, निरीक्षक जियाउल हक एवं 08 सदस्यीय टीम ने प्रधान आरक्षक शिव कुमार पनिका को गिरफ्तार किया।